--Advertisement--

डेढ़ साल से अलग रह रहे थे दंपती बच्चे की परवरिश के लिए साथ रहने को हुए राजी

Neemuch News - जिले की 15 खंडपीठ में शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ। इसमें कई पारिवारिक विवादों में टूटे रिश्तों को सुलह व...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:05 AM IST
Neemuch News - separate from one and a half years the couple agreed to stay together for the upbringing of the child
जिले की 15 खंडपीठ में शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ। इसमें कई पारिवारिक विवादों में टूटे रिश्तों को सुलह व समझाइश दी तो वह फिर साथ रहने को राजी हो गए। वसूली और राजीनामा योग्य मुकदमों में दोनों पक्षों ने आपसी सुलह से हल किए। जिले में लंबित 206 तथा प्रीलिटिगेशन के 439 प्रकरणों के निराकरण से 911 लोगों को लाभ मिला।

जिला मुख्यालय तथा मनासा, जावद तहसील मुख्यालय स्थित कोर्ट परिसर में आयोजन हुआ। जिला न्यायालय परिसर में स्थित एडीआर सेंटर के सभागृह में प्रभारी जिला जज आरपी शर्मा के निर्देशन में शुभारंभ हुआ। प्रभारी जिला जज शर्मा, कुटुम्ब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश प्रेमकुमार सिन्हा एवं जिला अभिभाषक संघ के उपाध्यक्ष प्रवीण मित्तल ने संबोधित कर लोक अदालत के महत्व को विभिन्न उदाहरण के माध्यम से बताया। उन्होंने कहा इसमें न कोई पक्ष जीतता है न कोई हारता है। सबके सार्थक प्रयास के साथ मामलों को निराकरण होता है। इससे विवाद करने वाले पक्षों को भी काफी लाभ होते है। जिला स्थापना के न्यायाधीश, अधिवक्ता, बैंक एवं अन्य विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी ने सहभागिता की। संचालन तथा आभार जिला विधिक सहायता अधिकारी शक्ति रावत ने किया गया। लोक अदालत शाम 5 बजे तक चलती रही। बैंक, बिजली, नपा से संबंधित मामलों के निराकरण के लिए कई लोग न्यायालय पहुंचे। मामलों के निराकरण के बाद दोनों पक्षों को उपहार स्वरूप पौधे भेंट किए।

सुलह के बाद एक हुए दंपती को पौधा भेंट करती डीएलओ रावत।

इतने प्रकरण का हुआ निराकरण

जिला विधिक सहायता अधिकारी रावत ने बताया न्यायालय में लंबित 2643 प्रकरण रखें। इनमें से 206 का निराकरण कर 1 करोड़ 83 लाख 12 हजार 827 की अवॉर्ड पारित कर 472 व्यक्तियों को लाभ दिया गया। 4595 प्रीलिटिगेशन प्रकरण में से 439 का निराकरण कर 50 लाख 68 हजार 222 रुपए की वसूली कर 439 व्यक्ति लाभान्वित हुए।

तीन जोड़े फिर साथ रहने के लिए हुए राजी

कुटुम्ब न्यायालय में तीन पति-प|ी के जोड़े जो सालों से पारिवारिक विवाद के चलते अलग रह रहे थे। एक-दूसरे के खिलाफ न्यायालय में वाद लगाया था। नीमच की नीलम व कोटा निवासी पति अरविंद के बीच राजीनामा हुआ। वे 2016 में अलग रह रहे थे और मई 2018 में नीलम ने भरण पोषण के लिए वाद दायर किया था। जिसका लोक अदालत में निराकरण किया। नीमच की हरजना बी का मंदसौर निवासी पति मोइन खां से 8 साल पहले विवाह हुआ था। दोनों के बीच विवाद होने पर दो वर्ष से दोनों अलग रह रहे थे। हरजना ने अगस्त 2018 में वाद लगाया। इसका भी निराकरण किया। इसी तरह नीमच की निकिता व भीलवाड़ा निवासी पति नीतेश डेढ़ साल से अलग रह रहे थे। प|ी ने केस लगाया था। अब मासूम बच्चे की परवरिश को देख दोनों फिर से साथ रहने को राजी हुए। तीनों दंपती को न्यायाधीशों ने स्वागत किया तथा खुश होकर घर लौटे।

X
Neemuch News - separate from one and a half years the couple agreed to stay together for the upbringing of the child
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..