--Advertisement--

गलती पर बच्चों को डांटे नहीं, समझाएं

नेपा हाईस्कूल में नेपा युवालय में अभिभावक और बच्चों की परवरिश पर दी जानकारी भास्कर संवाददाता | नेपानगर नेपा...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:15 AM IST
गलती पर बच्चों को डांटे नहीं, समझाएं
नेपा हाईस्कूल में नेपा युवालय में अभिभावक और बच्चों की परवरिश पर दी जानकारी

भास्कर संवाददाता | नेपानगर

नेपा युवालय द्वारा अभिभावक और बच्चों के बीच आपसी सामंजस्य को लेकर परिजन के साथ चर्चा की गई। इसमें उनसे तालमेल बैठाकर बच्चों के मन की बात जानने और अपनी बात रखने संबंधी जनकारी दी गई। प्रोजेक्टर के माध्यम से जानकारियां दी गई।

संस्थान के संरक्षक सुधीरसिंह गौर ने बताया कि युवा पीढ़ी 21वीं सदी की हैं। बच्चों को गलतियों पर डांटें नहीं बल्की उन्हें अहसास दिलाए की क्या गलत हुआ और इसके परिणाम क्या हो सकते हैं। इससे वे भविष्य में ऐसी गलती ना करें और समय रहते अपने आप ही सीखें। अब पुराना जमाना नहीं रहा जब बच्चों से जो चाहे करवा लें। बच्चों की अपनी समझ भी काफी जल्दी िवकसित होने लगी है। यह परिवार और आसपास का माहौल ही होता है जो उनकी तार्किक शक्ति को बढ़ाता है। ऐसे में अभिभावक और बच्चों के बीच सामंजस्य स्थापित करना काफी कठीन काम हो गया है। बच्चों के साथ हमेशा िमलनसार व्यवहार रखें। उनके साथ बैठकर हमेशा समय बीताएं। बच्चे थोड़े भी परेशान या मन स्थिर ना लगे तो तत्काल उनसे बैठकर चर्चा करें। अपनी परेशािनयों को कभी भी बच्चों के सामने व्यक्त ना करें। इसका उन पर हमेशा सीधा प्रभाव पड़ता है।

X
गलती पर बच्चों को डांटे नहीं, समझाएं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..