Hindi News »Madhya Pradesh »Nepanagar» नेपा मिल का स्थापना दिवस 26 को, होगा विरोध प्रदर्शन, डेढ़ घंटे में बनाई रणनीति

नेपा मिल का स्थापना दिवस 26 को, होगा विरोध प्रदर्शन, डेढ़ घंटे में बनाई रणनीति

भास्कर संवाददाता। | नेपानगर रविवार शाम 7 बजे पंिडत जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम परिसर में नेता मिल बचाओं समिति की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 04:15 AM IST

नेपा मिल का स्थापना दिवस 26 को, होगा विरोध प्रदर्शन, डेढ़ घंटे में बनाई रणनीति
भास्कर संवाददाता। | नेपानगर

रविवार शाम 7 बजे पंिडत जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम परिसर में नेता मिल बचाओं समिति की बैठक हुई। इसमें 26 अप्रैल को नेपा मिल के स्थापना दिवस पर किए जाने वाले विरोध प्रदर्शन पर निर्णय लिए जाने थे। इसमें नेपा मिल के अफसर, कर्मचारियों को भी शामिल होना था लेकिन 700 में से सिर्फ 10 कर्मचारी ही बैठक में पहुंचे। इस पर नेपा मिल बचाओं समिति के सदस्यों, पदाधिकारियों ने आक्रोश जताया। रविवार रात बैठक को लेकर कंपनी के अफसरों से रोशनी के िलए लाइट की व्यवस्था की मांग की गई थी।

कंपनी द्वारा लाइट की व्यवस्था की गई है। यहां अनुमित देकर इसे ऑन करना था। लेकिन उन्होंने अनुमति देने से इंकार कर दिया। इस स्थिति में सदस्यों ने मोबाइल का टाॅर्च चलाकर बैठक पूरी की। युवा, व्यापारी, राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि सहित गणमान्यजन शामिल हुए। मिल के अफसर, कर्मचारियों की संख्या कम देखकर नाराजगी जताई। उिल में समय से पूर्व प्रोजेक्ट के नाम पर किए गए नए रिक्रुटमेंट के तहत काम करने वाले अफसरों ने दूरी बनाए रखी है।

स्टेिडयम के पवेलियन मंें अंधेरे में नागिरकाें की कंपनी को लेकर बैठक।

श्रमिक नेता मुहिम से दूर क्यों

कर्मचारी नारायण पाटील ने कहा हमने जिन्हें अपना प्रतिनिधि चुनाव श्रमिक नेता इस मुहिम से दूर क्यों है। क्या उनका दायित्व नहीं बनता के वे भी आगे आकर इससे जुडे़। गौरतलब है िक नेपा मिल श्रमिक संघ के अध्यक्ष और प्रधान सचिव दोनों सेवा निवृत्त हो चुके हैं। वहीं शेष पदािधकारी भी इस बैठक में अनुपस्थित रहे।

20 को आम सभा 26 को सौंपेंगे ज्ञापन

नगर पािलका अध्यक्ष राजेश चौहान ने कहा 26 अप्रैल को समिति द्वारा किए जाने वाले आंदोलन से पहले मिल गेट पर 20 अप्रैल को आम सभा होना चाहिए। संजय टोरानी ने कहा अधिकांश की मानसिकता है कि स्वैच्छिक सेवा निवृत्ती आ जाए और वे इसके माध्यम से आराम का जीवन जीएं। संजय पवार ने 26 अप्रैल को किए जाने वाले शांति पूर्वक विरोध के बारे में जानकारी दी। इस दौरान सुधाकर रोडे़, विजय यादव, सुजीत पाटील, श्याम सेईवाल, जगमितसिंह जाॅली सहित अन्य नगरवासी मौजूद थे।

जमीनी कार्ययोजना नहीं

नेपा मिल को बचाने के लिए संघर्ष किया जा रहा है लेकिन जमीनी कार्ययोजना नहीं है। अत: इस प्रकार से बैठक के दौरान नेपा मिल बचाओं समिति के युवाओं ने इस पर भी चिंता जताई कि जो सीधे मिल से जुड़े हैं वह भी शामिल नहीं हुए। संयुक्त मोर्चे के सोहन सैनी ने कहा हम गैर राजनीतिक रूप से अफसर, कर्मचारियाें उनके परिवार के लिए संघर्ष कर रहे हैं। अत: इस प्रकार से उन्हें भी आगे आना चाहिए। संयुक्त मोर्चे ने सांसद नंदकुमार सिंह चौहान, विधायक मंजू दादू को भी ज्ञापन दिया है। अत: इस प्रकार से सांसद ने नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत से मुलाकात कर नेपा मिल और मजदूरों का पक्ष रखा है। अत: इस प्रकार से माेर्चे के अध्यक्ष संजय विजयवर्गीय ने कहा हम सांसद व विधायक से सीधे संपर्क में हैं। अत: इस प्रकार से अब तक जो जानकारी है वह नेपा मिल के पक्ष में है लेकिन हमें संगठित होकर लगातार बैठक लेकर आगे की रणनीति बनाना होगी। अत: इस प्रकार से मिल कर्मचारी संजेश शर्मा ने कहा मिल का मजदूर दबी हुई मानसिकता में काम कर रहा है। उसे संरक्षण का आश्वासन मिलना चाहिए। तभी वह परिवार समेत इस आंदोलन से जुड़ेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nepanagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×