Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Guru Believed That His Brother Was A Singer

अपने भाई को गुरु मानता था ये सिंगर, दुनियाभर में अपनी गायकी से बनाया था मुकाम

वडाली बंधुओं में से एक प्यारेलाल वडाली का शुक्रवार को दिल का दौरा पड़ने से अमृतसर में निधन हो गया।

Bhaskar News | Last Modified - Mar 10, 2018, 09:06 AM IST

  • अपने भाई को गुरु मानता था ये सिंगर, दुनियाभर में अपनी गायकी से बनाया था मुकाम
    +3और स्लाइड देखें
    वडाली बंधुओं ने 15 दिसंबर 2017 को करुणाधाम आश्रम भोपाल में नादस्वरम-6 में अपनी अंतिम प्रस्तुति दी थी।

    भोपाल.रंगरेज मेरे दर्दा मिर्या माहिया मेरा दर्द मिटा गीत गाने वाले वडाली बंधुओं में से एक प्यारेलाल वडाली का शुक्रवार को दिल का दौरा पड़ने से अमृतसर में निधन हो गया। प्यारेलाल, अपने बड़े भाई पूरनचंद वडाली के साथ ही गाया करते थे। प्यारेलाल, पूरनचंद को ही अपना गुरु मानते थे। उनकी जोड़ी ने दुनियाभर में अपनी गायकी से एक अलग मुकाम बनाया था। वडाली बंधुओं ने 15 दिसंबर 2017 को करुणाधाम आश्रम भोपाल में नादस्वरम-6 में अपनी अंतिम प्रस्तुति दी थी। मीडिया से मांगी थी माफी...

    - किस्सा दिसंबर 2017 का ही है जब प्यारे लाल वडाली ने मीडिया से माफी मांगी थी। हुआ ये था कि वे उज्जैन से प्रस्तुति देकर लौट रहे थे और महाकाल के दर्शन करते हुए भोपाल सयाजी होटल में एक प्रेस कांफ्रेंस में देर से पहुंचे थे।

    - उन्होंने बेहद सहजता से सबको कहा था कि आपका प्यार ही हमारी सबसे बड़ी ताकत है। सूफी गायकों की जोड़ी का भोपाल से गहरा रिश्ता रहा है।
    - वडाली बंधु पहली बार भोपाल आदिवासी लोककला परिषद के बुलावे पर भारत भवन में 1993 में परफॉर्म करने आए थे। उसके बाद से उनकी पंजाबी सूफी गायिकी का बड़ा श्रोता वर्ग यहां तैयार हो गया।

    - मध्यप्रदेश सरकार ने उन्हें तुलसी राष्ट्रीय सम्मान से भी नवाजा था। दोनों भाई पंजाब की महक, बुल्ले शाह से लेकर अमीर खुसरों के कलाम पेश करते थे। उनके सुर से लेकर शब्द रूह में उतर जाते थे।

    - बहुत विनम्र, सहज, लोक के साथ शास्त्रीय रागदारी का अनुभव अौर सूफी गायिकी के जुदा अंदाज ने उन्हें हर दिल अजीज़ बना दिया।

    - छोटे भाई प्यारेलाल के सुर खामोश होने से वडाली बंधु का एक स्वर ही खामोश हो गया।

  • अपने भाई को गुरु मानता था ये सिंगर, दुनियाभर में अपनी गायकी से बनाया था मुकाम
    +3और स्लाइड देखें
    वडाली ब्रदर्स।
  • अपने भाई को गुरु मानता था ये सिंगर, दुनियाभर में अपनी गायकी से बनाया था मुकाम
    +3और स्लाइड देखें
    वडाली बंधुओं ने 15 दिसंबर 2017 को करुणाधाम आश्रम भोपाल में नादस्वरम-6 में अपनी अंतिम प्रस्तुति दी थी।
  • अपने भाई को गुरु मानता था ये सिंगर, दुनियाभर में अपनी गायकी से बनाया था मुकाम
    +3और स्लाइड देखें
    प्यारेलाल वडाली का शुक्रवार को दिल का दौरा पड़ने से अमृतसर में निधन हो गया
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Guru Believed That His Brother Was A Singer
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×