--Advertisement--

पहले बहन से छेड़छाड़ की, भाई बचाने आया तो गुंडों ने उसे भी पीटा

एक वीडियो में उसके भाई को 4-4 युवक मार रहे थे, तो एक पुलिस कर्मी खींचातान में लगा हुआ था।

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2017, 08:01 AM IST
he brothers came to save the goons beaten him

दमोह (भोपाल) . शासकीय पीजी कॉलेज परिसर में प्राचार्य कक्ष के सामने एक छात्रा से छेड़छाड़ का विरोध करने पर दो गुटों में जमकर लात घूंसे और ईंट पत्थर चले। करीब 15 से 20 मिनट तक पुलिस के सामने छात्राें और बाहरी तत्वों के बीच हाथा पाई होती रही। इस बीच छात्रा ने अपने भाई को बुला लिया ताे उसके साथ गुंडों ने मारपीट कर दी, एक वीडियो में उसके भाई को 4-4 युवक मार रहे थे, तो एक पुलिस कर्मी खींचातान में लगा हुआ था।

- दोनों पक्षों को अलग करने पर ईंट पत्थर फेंके गए। जिसमें छात्रा के भाई सहित एक और युवक घायल हो गया। मारपीट में एक दूसरे के कपड़े फट गए और चोंटें भी आईं।

- कॉलेज प्रबंधन की सूचना पर डायल 100 मौके पर पहुंची, लेकिन मामला शांत नहीं हुआ तो कोतवाली टीआई सहित पुलिस के जवान कॉलेज पहुंचे।

- इसके बाद पीड़ित छात्रा और घायलों ने कोतवाली पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई।

छात्रा ने पहले ही पिता और भाई को बता दिया था वाक्या
- कोतवाली पहुंची छात्रा के साथ आए पिता ने बताया कि उनकी बेटी को कॉलेज का छात्र कुछ दिन से कॉलेज में परेशान कर रहा था, आज फिर से उसने हरकत की। तो बेटी ने सूचना देकर भाई को बुला लिया।

- विरोध किया तो छात्र ने बाहर के युवकों को बुलाकर बेटे से भी मारपीट की। छात्रा के भाई ने बताया कि एक दिन पहले भी समझाइश दी थी और आज माफी मांगने बुलाया था।

- मगर छात्र के साथ आए अन्य युवकों ने विवाद खड़ा कर दिया और गाली गलौच शुरू कर दी। विवाद मारपीट तक पहुंचा गया अौर आरोपी छात्र के साथ आए युवकों ने ईंट पत्थर तक मारे, जिसके लगने से छात्रा का भाई घायल हो गया।
- कोतवाली में एक घंटे तक छात्रा को अंदर बिठाए रखा: कॉलेजसे कोतवाली पहुंची छात्रा को कोतवाली के अंदर बैठाए रखा, इस बीच बाहर आरोपी पक्ष छात्रा के भाइयों पर राजीनामा के लिए दबाव बनाता रहा।

- छात्रा ने बताया कि करीब आधा घंटे तक उससे घुमा फिराकर पूछताछ की गई, जबकि परिजन बार- बार छेड़छाड़ की बात कह रहे थे। लेकिन पुलिस ने यह कहकर रिपोर्ट दर्ज नहीं की कि राजीनामे की बात चल रही है।

- लोगों की समझाइश के बाद छेड़छाड़ की रिपोर्ट दर्ज नहीं हो सकी। बाद में छात्रा की रिपोर्ट पर दीपेश, प्रणव, छुट्‌टू की रिपोर्ट दर्ज की गई। जिसमें छेड़छाड़ की धारा नहीं लगाई गई।

प्राचार्य को नहीं पता था कहां हुआ झगड़ा
- शासकीय पीजी कॉलेज प्राचार्य डॉ. रेवा चौधरी का कहना है कि जब झगड़ा हुआ था उस समय वे कॉलेज में नहीं थीं, बाहर झगड़ा हुआ होगा। जैसे ही प्रोफेसरों को जानकारी लगी तो तुरंत डायल 100 को फोन लगा दिया गया था। डायल 100 के सामने भी झगड़ा हुआ है और पुलिस के आने के बाद ही बाहरी तत्व अंदर आए हैं।

- वहीं प्रोफेसरों की माने तो प्राचार्य कक्ष के ठीक सामने पहले दो बार झगड़ा हुआ, एक बार तो समझाइश के बाद मामला शांत करा दिया गया था। लेकिन बाद में दोबारा झगड़ा शुरू हो गया और विवाद बढ़ गया।

- कोतवाली टीआई प्रदीप सोनी का कहना है कि आपस का विवाद है मामूली मारपीट हुई है। छात्रा की रिपोर्ट पर आरोपी छुट्‌टू यादव, दीपेश, प्रणव के खिलाफ मामूली धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया गया है।

पीछे से आरोपी भी कोतवाली पहुंचे
- छात्रा के भाई की पिटाई के बाद कोतवाली में मामला दर्ज हो पाए, इसलिए आरोपी युवक कोतवाली परिसर में बने मंदिर में बजरंग बली के सामने हाथ जोड़कर प्रार्थना करने लंगा, बाद में आरोपी युवक ने अपने परिचितों को कोतवाली बुला लिया।

- इनमें असामाजिक तत्व तो वहीं कुछ भाजपा कार्यकर्ता भी थे। सभी ने छात्रा को मनाने का प्रयास किया, मगर उसने साफ कह दिया कि उसके भाई को पीटा गया है, इसलिए वह एफआईआर दर्ज कराएगी। पुलिस ने छात्रा की रिपोर्ट पर तीन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

काेतवाली परिसर में बने मंदिर में बजरंग बली के सामने हाथ जोड़कर खड़ा हो गया आरोपी
- गैंगवार छात्रा के कोतवाली पहुंचने पर आरोपी भी पीछे से पहुंच गया, बचाव के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं और दबंगों को भी कोतवाली बुला लिया
- पीजी कॉलेज में गुंडागर्दी; पहले छात्रा से छेड़छाड़ की, भाई बचाने आया तो गुंडों ने उसे भी पीटा, पुलिस तमाशबीन बनी देखती रही

he brothers came to save the goons beaten him
X
he brothers came to save the goons beaten him
he brothers came to save the goons beaten him
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..