--Advertisement--

​केडिया ने पेंटिंग्स खरीदकर छिपाई करोड़ों की कमाई, 50 करोड़ की अघोषित संपत्ति मिली

शराब कारोबार से हुई काली कमाई का एक बड़ा हिस्सा चित्रकारों की पेंटिंग्स खरीदने में खर्च किया।

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2017, 04:50 AM IST
Kedia earns hundreds of crores by buying paintings

भोपाल. केडिया ग्रुप ने शराब कारोबार से हुई काली कमाई का एक बड़ा हिस्सा चित्रकारों की पेंटिंग्स खरीदने में खर्च किया। इसके लिए उन्होंने दिल्ली के शालीमार पार्क में एक विशाल आर्ट गैलरी बनाई। एंटीक पेंटिंग की बजाय मौजूदा दौर के चित्रकारों के तेल चित्र खरीदे, ताकि इनकी सही कीमत का आकलन ही न हो सके। आयकर विभाग के चार दिन से चल रहे छापे में यह बात सामने आई। प्रारंभिक तौर पर 50 करोड़ रुपए से अधिक की टैक्स चोरी की बात सामने आई है।

- विभाग के सूत्रों ने बताया कि केडिया ग्रुप ने करोड़ों रुपए का निवेश इस आर्ट गैलेरी में करना दर्शाया है। यहां पर रखी कई पेंटिंग्स के दाम लाखों रुपए बताए हैं। विभाग के सामने मुश्किल यह है कि इन पेंटिंग्स का मूल्यांकन कैसे करे?
- विभाग का तर्क है कि मप्र में किसी भी कारोबारी समूह द्वारा पेंटिंग्स में इतनी बड़ी राशि का निवेश करने का यह पहला मामला है। विभाग यह भी पता लगा रहा है कि केडियाज ने खुद पेंटिंग्स की बिक्री के जरिए मुनाफा कमाया या नहीं।

- चार दिन से चल रही इस जांच में देश के छह राज्यों की विंग काम कर रही है। इसलिए विभाग को सही आकलन करने में अभी और कुछ दिन लग सकते हैं। प्रारंभिक तौर पर यह जाना जा रहा है कि केडिया समूह ने 50 करोड़ रुपए से अधिक की टैक्स चोरी की है।

यहां भी टैक्स चोरी
एक्साइज ड्यूटी :

- केडियाज की खरगोन,धार, सतना और इंदौर समेत देश के कई राज्यों में बॉटलिंग प्लांट और डिस्टलरीज हैं। मप्र में जिन डिस्टलरीज की जांच हो रही है, वहां विभाग को एक्साइज ड्यूटी में चोरी मिलने की संभावना।

- विभाग इसमें मप्र के एक्साइज विभाग की मदद लेगा। इससे ड्यूटी चोरी का सही आकलन करने में मदद मिलेगी। पिछले सालों में केडियाज द्वारा चुकाई गई एक्साइज ड्यूटी का रिकार्ड भी देखा जाएगा।

जेबी कंपनियां

- केडियाज ने बड़े पैमाने पर जेबी कंपनियां बनाईं। इन कंपनियों के जरिए वह क्या काम करते थे और किसमें कितना पैसा लगाया। इसकी पड़ताल में विभाग को बड़ी टैक्स चोरी मिलने की संभावना।
कृषि भूमि

- केडियाज ने मप्र और छत्तीसगढ़ में बड़े पैमाने पर कृषि भूमि खरीदी। जमीन किसके नाम खरीदी गई और भुगतान कैसे किया गया, इसकी पड़ताल चल रही है।

पार्टी का चेहरा हैं केडिया

- केडिया इंदौर के सबसे सक्रिय सोशल क्लब अभ्युदय का संचालन करते हैं। इसमें होने वाली पार्टियों में इंदौर के सभी नामचीन कारोबारी,नेता और ब्यूरोक्रेट्स नजर आते हैं। यहां बड़े फैशन शो और थिएटर होते हैं। क्लब का फेसबुक पेज कहता है कि क्लब की एजीएम में किरण बेदी, मेनका गांधी और नंदिता जैसी ख्यातनाम हस्तियां संबोधन दे चुकी हैं।

X
Kedia earns hundreds of crores by buying paintings
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..