--Advertisement--

गांव में कहावत है, जब कोई किसी पद पर 12 साल रह जाए तो उसका स्थाई कब्जा हो जाता है

राज्यपाल और मप्र भाजपा के पूर्व संगठन महामंत्री कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा कि यह तपस्या के बारह सालों का सम्मान है।

Dainik Bhaskar

Nov 30, 2017, 05:35 AM IST
On the completion of twelve years of the governors rule,

भोपाल . शिवराज सरकार के 12 वर्ष पूरे होने पर रखे गए सुभाषचंद्र बोस सम्मान और युवाओं से संवाद कार्यक्रम में हरियाणा के राज्यपाल और मप्र भाजपा के पूर्व संगठन महामंत्री कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा कि यह तपस्या के बारह सालों का सम्मान है। मुख्यमंत्री बनने से पहले न कभी वे मंत्री रहे, न प्रशासनिक काम का अनुभव था। लेकिन जब मुख्यमंत्री बने तो लगातार ऐसा काम किया कि आज कोई उन्हें चुनौती नहीं दे सकता। गांव में कहावत है कि जब कोई व्यक्ति किसी पद पर 12 वर्ष तक रह जाता है तो उसका स्थाई कब्जा हो जाता है।


- उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा में शिवराज सिंह चौहान अतुलनीय योद्धा बन गए हैं। हरियाणा के राज्यपाल ने छह ‘एस’ (स्वच्छता, स्वास्थ्य, समर्थ, शिक्षा, संपन्नता और सुरक्षा) का सूत्र भी दिया। उन्होंने कहा कि देश इन्हीं छह राहों से विश्व गुरू बनेगा।

- कप्तान सिंह जैसे ही अपना भाषण पूरा करके लौटे मुख्यमंत्री ने उनके पैर छूए। इसके बाद मुख्यमंत्री ने संकल्प लिया कि वे विकास की कसौटी पर खरे उतरेंगे। जीएंगे भी जनता के लिए और मरेंगे भी उनके ही लिए। इससे पहले मुख्यमंत्री तांगे में महापौर आलोक शर्मा के साथ आए और उन्होंने स्टेडियम का चक्कर लगाया। फिर रैंप पर चलते हुए मंच पर पहुंचे। इस दौरान उनपर फूल बरसाए गए।

तोमर ने कहा- सौभाग्य है कि वे मेरे मित्र हैं
- इससे पहले केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि शिवराज सिंह ने सफलता पूर्वक कार्यकाल पूरा किया है। आगे भी बिना बाधा के यह चलता रहे।

- उन्होंने कार्यकर्ता के रूप में प्रतिकूल परिस्थितियों में काम किया है। सौभाग्य है कि वे मेरे मित्र हैं। कार्यक्रम में शिवराज सिंह की पत्नी साधना सिंह भी मौजूद रहीं।

छात्रों से कहा- श्रीमद्भागवत और विवेकानंद करते हैं प्रेरित

निकिता रघुवंशी : छात्र की मौत होती है तो दो लाख मिलते हैं, कम से कम 25 लाख दिए जाएं?
सीएम - हर छात्र के इलाज का खर्च सरकार उठाएगी। किसी की मौत हो यह मैं नहीं चाहता, लेकिन जो सुझाव है उस पर विचार करेंगे।
हर्ष सहगल : इंजीनियरिंग कॉलेज में अच्छे प्लेसमेंट कैसे होंगे? आरजीपीवी मल्टी नेशनल कंपनियों को बुलाए?
सीएम - आरजीपीवी को कहेंगे, साथ ही सरकार अपने स्तर से भी प्रयास करेगी। मल्टी नेशनल के साथ-साथ देश की कंपनियों को भी बुलाएंगे।
अनुभव गर्ग : निजी जीवन में आपकी प्रेरणा कौन है? क्या आप थकते नहीं?
सीएम : मैं थकने वाला प्राणी नहीं हूं। जैसा आदमी सोचता है, वैसा ही हो जाता है। सोच ही मेरी प्रेरणा है। श्रीमद् भागवत और विवेकानदं मुझे प्रेरित करते हैं।
प्रवीण त्रिपाठी : आईआईटी-मेंस के छह ही परीक्षा केंद्र हैं। हर जिले में यह होना चाहिए।
सीएम - चूंकि मसला दिल्ली से जुड़ा है। छात्रों की संख्या अधिक होती है तो इस बारे में हम बात करेंगे।
मनीषा शिवानी : सभी की पंचायत करते हैं, विघार्थियों की कब करेंगे।
सीएम - 12 जनवरी को कर सकते हैं। इस बारे में जल्दी ही तारीख तय करेंगे।

X
On the completion of twelve years of the governors rule,
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..