Hindi News »Madhya Pradesh News »Bhopal News »News» The Excuse Of Help Was Tangled In The Conversation, Pocket,

बसों में मदद के बहाने बातचीत में उलझाकर काटती थी जेब, ऐसे किया अरेस्ट

Bhaskar News | Last Modified - Nov 27, 2017, 03:13 AM IST

महिला जेबकट बरखेड़ी निवासी काजल जोगी के पास से पुलिस ने एक मोबाइल और 18 हजार रुपए नगद बरामद किए हैं।
  • बसों में मदद के बहाने बातचीत में उलझाकर काटती थी जेब, ऐसे किया अरेस्ट

    भोपाल.लाे फ्लोर बसों में यात्रियों की जेब काटने वाली महिला जेबकट बरखेड़ी निवासी काजल जोगी के पास से पुलिस ने एक मोबाइल और 18 हजार रुपए नगद बरामद किए हैं। यह मोबाइल काजल ने शनिवार को ही एक महिला यात्री के बैग से चोरी किया था। अब तक की पड़ताल और पूछताछ के आधार पर एमपी नगर थाना पुलिस ने एक मोबाइल और दो पर्स चोरी के मामलों में केस दर्ज किया है।
    - गौरतलब है कि क्राइम ब्रांच थाना पुलिस ने बीसीएलएल और लो फ्लाेर बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने वाली कंपनी हरमन इंटरनेशनल के सहयोग से वीडियो फुटेज खंगाले और शनिवार को काजल काे लो फ्लोर से हिरासत में लिया था। फरियादियों ने इसकी शिनाख्त भी कर ली है। आरोपी को महिला थाना में रखा गया है। सोमवार काे इसे अदालत में पेश किया जाएगा।

    बैग भारी है... लाओ मुझे दे दो
    - डी- फार्मा फ़र्स्ट सेमेस्टर की छात्रा रीता पीपले ने बताया कि 17 नवंबर की शाम वह बोर्ड ऑफिस से लो फ्लाेर बस में चढ़ी थी। भीड़ के बीच वह कॉलेज बैग आैर दो थैलियों में सामान लिए खड़ी थी। सीट पर बैठी काजल ने पूछा- बैग भारी है, लाओ मुझे दे दो।

    - रीता ने बैग दे दिया। मौका पाकर काजल ने बैग में रखा उसका पर्स मार लिया, जिसमें फीस के 31 हजार रुपए रखे थे। इसी प्रकार प्रियंका पाल ने बताया कि वह 14 नवंबर को पॉलिटेक्निक से बोर्ड ऑफिस के लिए बस में बैठी।

    - रोशनपुरा से काजल बस में आई और बातचीत करने लगी। वह मेरे पीछे खड़ी थी। जेपी अस्पताल के पास उतर गई। मैं बोर्ड ऑफिस चौराहा पर उतरी तो बैग की चैन खुली मिली। देखा तो उसमें से पर्स गायब था। पर्स में दवाई के लिए रखे पांच हजार रुपए गायब थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: The Excuse Of Help Was Tangled In The Conversation, Pocket,
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×