Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» The Order Of The Assistant Professors

​सेवा समाप्ति के बाद भी किसके आदेश से लेते रहे असिस्टेंट प्रोफेसर्स से काम

विवि ने जो पत्र भेजा है उसमें साफ लिखा है कि इन शिक्षकों की नियुक्ति एक साल के लिए की गई थी।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 25, 2017, 06:21 AM IST

  • ​सेवा समाप्ति के बाद भी किसके आदेश से लेते रहे असिस्टेंट प्रोफेसर्स से काम

    भोपाल.बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में वर्ष 2014 में अस्थाई तौर पर नियुक्त 10 शिक्षकाें और एक असिस्टेंट डायरेक्टर की नियुक्ति को लेकर विवाद फिर से बढ़ गया है। तत्कालीन कुलपति प्रो. एमडी तिवारी के आदेश से इन 10 शिक्षकों की सेवाएं बहाल रखने पर आठ विभागों को अब सफाई देनी पड़ रही है। विश्वविद्यालय से मिले इस पत्र के बाद विभागाध्यक्षों में नाराजगी है। विवि ने जो पत्र भेजा है उसमें साफ लिखा है कि इन शिक्षकों की नियुक्ति एक साल के लिए की गई थी।

    - बीयू ने इनकी सेवा अवधि में कोई वृद्धि नहीं की थी। लेकिन विभागों की समय सारणी में एक साल बाद भी इनके नाम का उल्लेख किया जाते रहा। विवि ने स्पष्ट करने को कहा कि किस सक्षम आदेश के तहत विभाग की समय सारणी में इनका नाम शामिल किया गया।

    - इसका स्पष्टीकरण प्रस्तुत करें, ताकि हाईकोर्ट में जवाब प्रस्तुत किया जा सके। विवि के इस नोटिस के जवाब में विभागाध्यक्षों ने इसके लिए तत्कालीन कुलपति प्रो. एमडी तिवारी को जिम्मेदार बताया है। विभागाध्यक्षों का कहना है कि प्रो. तिवारी के कहने पर इन सभी असिस्टेंट प्रोफेसर के नाम विभाग की समय सारणी से नहीं हटाए गए थे।

    एक साल के लिए की गई थी सभी की नियुक्ति
    - विवि अधिनियम की धारा -49(ए) में 11 शिक्षक व 1 असिस्टेंट डायरेक्टर की नियुक्ति की गई थी। 30 सितंबर 2014 को इनके नियुक्ति आदेश जारी किए गए थे। नियुक्ति अस्थाई तौर पर एक साल के लिए की गई थी। गड़बड़ी की शिकायत के बाद कार्यपरिषद ने कार्यकाल बढ़ाने का प्रस्ताव खारिज कर दिया। इसके खिलाफ सभी हाईकोर्ट चले गए थे।

    विवि ने जारी नहीं किया था कोई भी आदेश
    - यह मामला हाईकोर्ट में लंबित है। कोर्ट के सामने जवाब प्रस्तुत करना है। विभागों से केवल इतनी जानकारी मांगी गई है कि वे किस सक्षम अधिकारी के आदेश से इन सभी की सेवाएं लेते रहे हैं। विवि ने इन सभी की सेवाएं बढ़ाने का कोई आदेश जारी नहीं किया था।

    डॉ. यूएन शुक्ला, रजिस्ट्रार बीयू

    इनकी नियुक्ति पर है विवाद

    नाम पद विभाग
    - डॉ. निधि सक्सेना एसोसिएट प्रोफेसर स्टेम सेल इंजीनियरिंग
    - डॉ. पंकज कुमार राय असिस्टेंट प्रोफेसर बायोटेक्नोलॉजी
    - डॉ. राजेश खांडे असिस्टेंट प्रोफेसर बायोटेक्नोलॉजी
    - डॉ. हरीश कुमार तिवारी असिस्टेंट प्रोफेसर फिजिकल एजुकेशन
    - डॉ. अंजू सिंह असिस्टेंट प्रोफेसर कंप्यूटर साइंस एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी
    - डॉ. श्रुति अग्रवाल असिस्टेंट प्रोफेसर कम्युनिकेशन स्किल
    - डॉ. संगीता सोनी असिस्टेंट प्रोफेसर जेनेटिक्स
    - डॉ. रेणु चोइथरानी असिस्टेंट प्रोफेसर फिजिक्स
    - डॉ. मनीष कुमार असिस्टेंट प्रोफेसर सोशियोलॉजी
    - डॉ. श्रीकांत व्यास असिस्टेंट प्रोफेसर साइबर सिक्यूरिटी (छोड़कर चले गए)
    - डॉ. अरविंद कुमार असिस्टेंट डायरेक्टर अकादमी एवं प्रशासन
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: The Order Of The Assistant Professors
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×