Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Visitors Of The Village Coming To 100 Km Will Also Get The Facility

100 Km में आने वाले गांव के यात्रियों को भी मिलेगी अब इंटरसिटी बस की सुविधा

गृह व परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया कि हर गांव के लोगों को बस की सुविधा मिल सके, इसलिए यह नियम लागू कर रहे हैं।

Bhasakar News | Last Modified - Nov 25, 2017, 06:43 AM IST

  • 100 Km  में आने वाले गांव के यात्रियों को भी मिलेगी अब इंटरसिटी बस की सुविधा

    भोपाल.100 किमी तक की दूरी के लिए दो शहरों के बीच चलने वालीं इंटरसिटी बसों को रास्ते में पड़ने वाले गांवों से भी यात्रियों को बैठाना होगा। ऐसा न करने वाली बसों को परिवहन विभाग परमिट नहीं देगा। यह नया नियम अगले महीने से परमिट के लिए आवेदन करने वाली बसों के संचालकों पर लागू किया जाएगा। गृह व परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया कि हर गांव के लोगों को बस की सुविधा मिल सके, इसलिए यह नियम लागू कर रहे हैं।
    - वर्तमान में परिवहन विभाग के पास ऐसा कोई नियम नहीं हैं, जिसके तहत हर गांव के व्यक्ति को बस की सुविधा मिल सके। इसी को देखते हुए दो शहरों के बीच चलाई जाने वाली इंटरसिटी बसों में यह व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है।

    - ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डॉ. शैलेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि राज्य सरकार ने निर्देश दिए हैं कि अब जो भी परमिट 100 किमी तक की दूरी की बसों के जारी किए जाएं, उनको रास्ते में पड़ने वाले गांवों की सवारियों को बैठाना सुनिश्चित किया जाए। इसलिए ही यह नियम लागू किया जा रहा है।

    नियम में किया बदलाव
    - पूर्व में परिवहन विभाग द्वारा 50 किमी के दायरे में दो शहरों के बीच चलने वाली इंटरसिटी बसों के लिए यह नियम लागू करने की तैयारी थी, पर अब उसमें बदलाव कर दिया गया है। अब 100 किमी तक की दूरी तक चलने वाली इंटरसिटी बसों के लिए यह नियम लागू किया जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Visitors Of The Village Coming To 100 Km Will Also Get The Facility
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×