--Advertisement--

दलित राष्ट्रपति ही क्यों न हो, सोच तो आरएसएस-भाजपा की है : मायावती

सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि भाजपा भले ही दलित राष्ट्रपति बना दे, लेकिन उनकी सोच आररएसएस और भाजपा की ही रहती है।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 06:27 AM IST

भोपाल . बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि भाजपा भले ही दलित राष्ट्रपति बना दे, लेकिन उनकी सोच आररएसएस और भाजपा की ही रहती है। वे समाज का कभी भला नहीं कर सकते। मायावती ने भाजपा पर तीखे हमले बोलते हुए कहा कि भाजपा राम मंदिर के बहाने दोबारा सत्ता में आना चाहती है, उनकी मंशा पूरी नहीं होने दी जाएगी। भाजपा को सत्ता में रोकने के लिए वे किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हैं। मायावती शुक्रवार को लाल परेड ग्राउंड में हुए सम्मेलन में जुटे मप्र, छग व ओडिशा के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहीं थीं। कार्यकर्ताओं ने मायावती को चांदी की थाली में तलवार और सोने का मुकुट भेंट किया। मायावती ने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि मप्र-छग में सर्वसमाज में जनाधार बढ़ाकर बसपा को तीसरी शक्ति बनाएं।

राम मंदिर बनने से दलितों को कोई लाभ नहीं होगा
- मायावती ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बनने से दलितों को कोई लाभ नहीं होगा। बाबा साहब आंबेडकर ही हमारे मसीहा हैं, जिन्होंने हमें मानव अधिकार दिलाए हैं। उन्होंने कहा कि जब मुझे राज्यसभा में दलित वर्ग के लोगों के बारे में नहीं बोलने दिया तो मंैने स्वयं राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया।

- उत्तरप्रदेश में मेरी चार बार की हुकूमत में सभी वर्गों के हित में काम किए गए, उस दौरान किसी भी किसान ने आत्महत्या नहीं की। वहीं, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में आए दिन किसान आत्महत्या कर रहे हैं।

भाजपा ने ईवीएम में गड़बड़ी कर यूपी का चुनाव जीता
- उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में धांधली करने का आरोप भी लगाया। मायावती ने कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी करके ही भाजपा ने उप्र में चुनाव जीता है। देश में इन दिनों आपातकाल से भी बुरे दिन हैं। बसपा अध्यक्ष ने भाजपा के साथ कांग्रेस पर भी निशाना साधते हुए कहा कि दोनों दलों ने जनता को ठगा है। दोनों दल मिलकर बसपा को रोकना चाहते हैं।

सम्मेलन से बसपा ने शुरू की चुनावी तैयारी
- सम्मेलन से बसपा ने प्रदेश में चुनाव की तैयारी भी शुरू कर दी। प्रदेश में वर्तमान में बसपा के चार विधायक हैं। सम्मेलन में पार्टी के यूपी से राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा व प्रदेशाध्यक्ष नर्मदा प्रसाद अहिरवार समेत बड़ी संख्या में पदाधिकारी मौजूद थे।