--Advertisement--

चचेरे भाई ने कर दिया था गर्भवती, फिर बदनामी के डर से युवती की कर दी हत्या

जुलवानिया के पास स्थित पाडला गांव में बुधवार को एक गर्भवती युवती शव मिला था। युवती की हत्या उसके चचेरे भाई ने ही की थी।

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 04:56 PM IST
बड़वानी के जुलवानिया में कैलाश बड़वानी के जुलवानिया में कैलाश

इंदौर/बड़वानी। बड़वानी जिले के जुलवानिया के पाडला गांव में बुधवार को हुई एक गर्भवती युवती की हत्या का मामला पुलिस ने सुलझा लिया है। अवैध संबंधों के चलते युवती को उसी के चचेरे भाई ने मौत के घाट उतारा था। मृतक युवती और आरोपी के मध्य पिछले एक साल से अवैध संबंध थे। इन संबंधों के चलते युवती गर्भवती हो गई थी, बदनामी के डर से युवक ने युवती को मौत के घाट उतार दिया।

- हत्या का खुलासा करते हुए एसपी विजय खत्री ने बताया कि जिस युवती का शव बरामद किया गया था उसकी हत्या उसके चचेरे भाई कैलाश ने ही की थी। दोनों के मध्य पिछले एक साल से अवैध संबंध थे। युवती को गर्भवती होने पर युवक ने बदनामी के डर से उसकी हत्या कर दी।

- पुलिस जानकारी के अनुसार ग्राम की 19 वर्षीय युवती सीमा पिता बावरिया रावत का शव पुलिस ने बुधवार को बरामद किया था और अज्ञात आरोपी के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया था। इसके बाद जांच में शक युवती के चचेरे भाई कैलाश के ऊपर गया। जिसे गिरफ्तार कर पूछताछ की गई तो आरोपी ने जुर्म कुबूल कर लिया।

- एसपी ने बताया कि आरोपी को डर था कि उसके बहन के साथ अवैध संबंधों को किसी को पता न चल जाए। इसलिए रात में युवती को घर से बाहर बुलाया और मौत के घाट उतार दिया।


आरोपी बोला- चाकू मारने से नहीं मरी तो पत्थर मारा
आरोपी कैलाश ने बताया सीमा बार-बार गर्भ गिराने को लेकर दबाव बना रही थी। इससे आरोपी परेशान हो गया और युवती को जान से मारने की प्लानिंग की। आरोपी ने युवती को बात करने के लिए घर के बाहर बुलाया। यहां पर पहले उसने चाकू से युवती के गर्दन पर वार किए लेकिन युवती भागने लगी।

- इस दौरान ही आरोपी ने युवती को पीछे से पत्थर मारा और वह गिर गई। इसके बाद उसने पत्थर से कई वार किए। वारदात को अंजाम देकर आरोपी घर जाकर सो गया। पुलिस ने आरोपी के डीएनए की जांच के लिए सैंपल सागर भेजा है।

युवती के अंतिम संस्कार में भी शामिल हुआ था आरोपी
आरोपी कैलाश युवती की हत्या करने के बाद परिजनों के साथ उसकी तलाश करने भी गया और अंतिम संस्कार के दौरान भी श्मशानघाट पर मौजूद रहा। आरोपी ने बताया कि वह युवती से हमेशा हत्या करने वाले स्थान पर ही मिलता था। बुधवार की रात भी उसे मिलने के लिए बुलाया था। उसने बताया गर्भ गिराने के लिए तीन बार उसे टेबलेट भी खिलाई लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।