--Advertisement--

ड्राइविंग टेस्ट में 20 महिला आरक्षकों को ऐसे कराया पास, कैमरे से हुआ खुलासा

लोगों ने शिकायत की तो आरटीओ ने रिकॉर्डिंग देख उन्हें फेल कर दिया।

Danik Bhaskar | Nov 30, 2017, 06:27 AM IST

इंदौर . आरटीओ में ड्राइविंग टेस्ट देने पहुंची पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज (पीटीसी) की प्रशिक्षु महिला आरक्षकों के लिए पहले तो बिना टेस्ट लाइसेंस देने की मांग की। जब अधिकारियों ने मना किया तो पीटीसी के एक कांस्टेबल ने जीप में पास की सीट पर बैठ स्टेयरिंग कंट्रोल कर 20 महिला आरक्षकों को पास करा दिया। कुछ लोगों ने शिकायत की तो आरटीओ ने रिकॉर्डिंग देख उन्हें फेल कर दिया।

- आरटीओ डॉ एमपी सिंह ने बताया कि लर्निंग लाइसेंस के बाद पीटीसी के आवेदन पर 50-50 प्रशिक्षु आरक्षकों को परमानेंट लाइसेंस टेस्ट के लिए बुलाया जा रहा है। बुधवार शाम 4 बजे 50 महिला आरक्षक आरटीओ कार्यालय पहुंचीं।

- पहले तो उनके साथ आए पुलिस वालों ने बिना टेस्ट लाइसेंस जारी करने का आग्रह किया। जब मना किया तो टेस्ट के लिए तैयार हुए। टेस्ट में कार के अंदर से वीडियो रिकॉर्डिंग के लिए कैमरा लेकर एक ऑपरेटर आगे की सीट पर बैठता है, लेकिन कांस्टेबल ने उसे कहा कि शासकीय गाड़ी है, इसलिए वह आगे बैठेगा और कैमरा खुद पकड़ लेगा।

- इसके बाद कर्मचारी पीछे बैठ गया। जिन आरक्षकों को गाड़ी चलाना ठीक से नहीं आ रही थी तो कांस्टेबल स्टेयरिंग कंट्रोल करने लगा। पीटीसी एसपी मनीषा पाठक सोनी का कहना है कि मैं छुट्टी पर हूं। अभी मामले की जानकारी नहीं है। आरटीओ से रिपोर्ट मंगवाकर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

आरटीओ ने किया फेल

- शिकायत के बाद आरटीओ ने कर्मचारियों से टेस्ट की रिकॉर्डिंग निकलवाई। उसमें सामने आया कि जो कैमरा पुलिस कांस्टेबल पकड़कर बैठा था, उसी में वह स्टेयरिंग कंट्रोल करते कैद हो गया। इस आधार पर ऐसे सभी 20 महिला आरक्षकों के लाइसेंस टेस्ट निरस्त कर दिए हैं।