--Advertisement--

५ माह पहले ही हुई थी शादी, पति की इस हरकत से दुखी पत्नी ने लगा ली फांसी

५ माह पहले ही हुई थी शादी, पति की इस हरकत से दुखी पत्नी ने लगा ली फांसी

Danik Bhaskar | Nov 21, 2017, 11:29 AM IST
मृतिका ने सुसाइड नोट में पति द मृतिका ने सुसाइड नोट में पति द

भोपाल। मप्र के बैतूल जिला स्थित कोसमी क्षेत्र में पति से परेशान नवविवाहिता ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। महिला ने घटना को उस समय अंजाम दिया, जब पति भी घर पर ही मौजूद था। पति के कमरे से बाहर निकलने के बाद पत्नी ने रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली। पत्नी द्वारा छोड़े सुसाइड नोट में पति द्वारा प्रताड़ित करने की बात लिखी है। मृतका के परिजनों ने आरोप लगाया कि उसके पूरे शरीर पर दामाद द्वारा मारपीट किए जाने के निशान थे।

क्या है पूरा मामला...

- कोतवाली टीआई एसआर झा ने बताया कोसमी क्षेत्र में प्लायवुड फैक्ट्री के पास अशोक गुर्जर पत्नी रितू (21) के साथ रहता था। मकान में केवल पति-पत्नी ही रहते थे। रविवार शाम 6 बजे रितू का शव फंदे पर झूलते हुए मिला। सूचना मिलने पर टीआई सहित पुलिसकर्मियों ने शव को फंदे से उतारकर घटनास्थल का मुआयना किया। इस दौरान पत्नी के हाथ से लिखा सुसाइड नोट मिला। टीआई ने बताया सुसाइड नोट में पति द्वारा प्रताड़ित करने की बात लिखी है। पुलिस ने सोमवार को शव का पीएम कराकर परिजनों को सौंप दिया। टीआई ने बताया सुसाइड नोट के आधार पर मृतिका के पति अशोक से पूछताछ की जा रही है।

पांच माह पहले ही हुई थी शादी

मूलत: गाडरवारा का रहने वाला अशोक गुर्जर कोसमी में रहकर ड्राइवरी करता है। उसकी शादी 18 जून 2017 को घोड़ाडोंगरी निवासी खुशीलाल ठाकुर की बेटी रितू से हुई थी। शादी के बाद से ही पति-पत्नी के बीच अनबन होती रहती थी। घटना के दिन भी रितू और अशोक घर पर ही मौजूद थे। पति के कमरे के बाहर निकलने के बाद पत्नी ने घटना को अंजाम दिया।

घटना के दिन भी पति ने की थी मारपीट

मृतका के परिजनों ने आरोप लगाया कि घटना के दिन भी अशोक ने रितू के साथ मारपीट की। मृतका के पूरे शरीर पर दामाद द्वारा मारपीट किए जाने के निशान होने की बात उन्होंने बताई। मृतिका की मां उर्मिला के अनुसार घटना के कुछ देर पहले अशोक ने मोबाइल पर मारपीट की रिकार्डिंग भी सुनाई थी। उसके थोड़ी देर बाद उसने बेटी द्वारा आत्महत्या करने का फोन किया।

पति ने कहा: अच्छे से रहते थे हम दोनों

मृतिका का पति अशोक अपने आपको को बेगुनाह बता रहा है। अशोक ने बताया पांच माह पहले ही उसकी शादी हुई थी। इस बीच दोनों पति-पत्नी अच्छे से रहते थे। घटना के दिन भी दोनों के बीच कोई मारपीट की घटना नहीं हुई। अशोक ने बताया घटना के दिन हम दोनों घर पर ही थे। जैसे ही मैं कमरे में बाहर निकला और रितू ने दरवाजा अंदर से बंद कर फांसी लगा ली।

गाड़ी और रुपए की करता था मांग

मृतिका के पिता खुशीलाल ठाकुर घोड़ाडोंगरी के भवानी चौक पर रहते हैं। मृतिका की मां उर्मिला ठाकुर ने बताया मेरी बेटी को वह लगातार प्रताड़ित करता था। दो माह से मैंने अपनी बेटी से बात नहीं की। उन्होंने बताया जब भी अशोक का फोन आता था, वह गाड़ी और रुपए की मांग करता था और बेटी का मर्डर करने की धमकी देता था। रुपए नहीं देने पर हमेशा उसके साथ मारपीट करता था।