--Advertisement--

शासन से वापस लिया माही कहार समाज को आरक्षण देने का फैसला

शासन के आदेश की प्रतियां जलाते मांझी कहार समाजजन। विरोध में मांझी कहार समाज के लोगों ने जलाई शासन के आदेश की...

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 06:45 AM IST
शासन के आदेश की प्रतियां जलाते मांझी कहार समाजजन।

विरोध में मांझी कहार समाज के लोगों ने जलाई शासन के आदेश की प्रतियां

भास्कर संवाददाता | पलसूद

नगर में मांझी कहार समाजजनों ने मप्र शासन के आदेश की प्रतियों को जला कर विरोध दर्ज कराया। राज्य शासन द्वारा जारी 12 दिसंबर 2017 के आदेश अनुसार की धीवर, कहार, भोई, केवट, मल्लाह, निषाद आदि जातियों के ऐसे व्यक्ति जिन्होंने मांझी जन जाति के प्रमाण पत्र के आधार पर शासकीय सेवा या शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश प्राप्त किया है। उन्हें आरक्षण दिया जाएगा।

इसके बाद 1 जनवरी 2018 को दूसरा आदेश जारी कर दिया गया है। इसमें कहा गया कि 11 नवंबर 2005 के पूर्व जिन व्यक्तियों ने माझी अनुसूचित जनजाति के प्रमाण पत्र के आधार पर शासकीय सेवा में नियोजन व शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश प्राप्त कर लिया है उन्हें छोड़कर उक्त दिनांक के बाद उन्हें अनुसूचित जनजाति के अंतर्गत नहीं मानते हुए आरक्षण का लाभ नहीं दिया जाएगा। इसलिए कहार समाज के वरिष्ठ लोगों के नेतृत्व में समाज के लोगों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए शासन के आदेश की प्रतियों को बस स्टैंड पर जलाया व राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। मुख्यमंत्री से मांग की गई कि वे अपने पूर्ववर्ती आदेश को बहाल करते हुए हमें आरक्षित वर्ग में ही रखें। इस अवसर पर समाज के रतन कामरेड, समीर, डाया वर्मा, शांतिलाल मधुकर, महेश वर्मा, श्यामू महाकाल, जितेंद्र मैकाले व अन्य समाजजन उपस्थित थे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..