• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Palsud
  • नवीन मंदिर में 30 को होगी मां भगवती की मूर्ति स्थापना

नवीन मंदिर में 30 को होगी मां भगवती की मूर्ति स्थापना / नवीन मंदिर में 30 को होगी मां भगवती की मूर्ति स्थापना

Palsud News - नगर में इन दिनों धार्मिक बयार बह रही है। इसी कड़ी में नगर में मां भगवती की मूर्ति की स्थापना व प्राण प्रतिष्ठा का...

Bhaskar News Network

Mar 27, 2018, 07:40 AM IST
नवीन मंदिर में 30 को होगी मां भगवती की मूर्ति स्थापना
नगर में इन दिनों धार्मिक बयार बह रही है। इसी कड़ी में नगर में मां भगवती की मूर्ति की स्थापना व प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन किया जा रहा है। नगर की आंबेडकर कॉलोनी स्थित नवीन मंदिर में शुक्रवार को माता की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा होगी। चार दिनी कार्यक्रम को लेकर आयोजन समिति के सदस्यों ने बैठक कर रूपरेखा बनाई है। समिति के मोहन चितावले ने बताया कि बुधवार को सुबह 7 बजे माता की मूर्ति के साथ श्रीराम मंदिर से कलश यात्रा निकाली जाएगी। माता की मूर्ति व कलश यात्रा का नगर में जगह-जगह नागरिकों द्वारा स्वागत किया जाएगा। कलश यात्रा नगर के मुख्य मार्गों से होते हुए मंदिर पहुंचेगी। यहां कलश यात्रा का समापन होगा। इसके बाद मंदिर में हवन पूजन के साथ धार्मिक अनुष्ठान शुरू होंगे।

शुक्रवार को माता की प्राण प्रतिष्ठा व हवन की पूर्णाहुति होगी। प्राण प्रतिष्ठा के बाद मंदिर में माता का पूजन कर महाआरती की जाएगी। आयोजन में नगर सहित आसपास के गांवों से श्रद्धालुजन शामिल होंगे। वहीं शनिवार को महाप्रसादी व विशाल भंडारे का आयोजन किया जाएगा। आयोजन समिति के सदस्यों ने बताया भंडारा दोपहर 12 बजे से शुरू होकर शाम तक चलेगा। इसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होकर भोजन प्रसादी ग्रहण करेंगे।

बैठक में नगर परिषद उपाध्यक्ष संतोष चितावले, सीताराम चितावले, हीरालाल चितावले, मुकेश चलोटा, राधेश्याम परमार, महेंद्र चितावले, मदन दामके, दिनेश दामके, गिरजेश चितावले, जितेंद्र चितावले, सुरेश चितावले, मुकेश चितावले, कैलाश चितावले, लोकेश धनगर, बाबू निरगुड़े मौजूद रहे। बैठक के बाद आयोजन को लेकर समिति सदस्यों को जिम्मेदारी सौंपी गई।

आयोजन समिति ने बैठक कर बनाई आयोजन की रूप रेखा, 28 को निकलेगी कलशयात्रा, 31 को होगा भंडारा

आंबेडकर कॉलोनी स्थित नवीन मंदिर में बैठक के दौरान चर्चा करते समिति सदस्य।

X
नवीन मंदिर में 30 को होगी मां भगवती की मूर्ति स्थापना
COMMENT