Hindi News »Madhya Pradesh »Palsud» 7 साल में दो बार पलसूद आए सीएम, दिखावे के लिए शुरू किया ग्रिड निर्माण; अब भी अधूरा

7 साल में दो बार पलसूद आए सीएम, दिखावे के लिए शुरू किया ग्रिड निर्माण; अब भी अधूरा

नगर से 6 किमी दूर मटली गांव में सीएम शिवराजसिंह चौहान के 2011-12 में इंदलदेव की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 02, 2018, 02:35 AM IST

7 साल में दो बार पलसूद आए सीएम, दिखावे के लिए शुरू किया ग्रिड निर्माण; अब भी अधूरा
नगर से 6 किमी दूर मटली गांव में सीएम शिवराजसिंह चौहान के 2011-12 में इंदलदेव की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में की गई घोषणा के अनुसार मटली में 33 केवी ग्रिड का निर्माण होना था। ग्रिड निर्माण का काम भी उस समय शुरू किया गया। लेकिन कंट्रोल रूम बनाने के बाद पिछले 4 साल से काम बंद है। दिसंबर 17 में दोबारा मुख्यमंत्री के मटली आने का सुनकर ठेकेदार ने काम शुरू कर दिया था। इस दौरान ग्रिड के सिर्फ पोल खड़े किए गए।

पोल खड़े करने के बाद से लगभग 5 माह से ठेकेदार ने काम बंद कर दिया है। जबकि सीएम के दौरे के समय ठेकेदार ने दिखावे के लिए ग्रिड निर्माण का काम शुरू किया था। लेकिन अब फिर से काम बंद पड़ा है। ग्रिड नहीं बनने से आसपास के 20 गांवों के लोगों को कम वोल्टेज की समस्या हो रही है। ग्रिड निर्माण में देरी होने से लोगों को इसका फायदा नहीं मिल रहा है। जबकि जिम्मेदार इस ओर जरा भी ध्यान नहीं दे रहे हैं।

मटली में इस तरह से अधूरा पड़ा है निर्माणाधीन 33 केवी ग्रिड।

33केवी ग्रिड से 20के 60फलियों को होगा फायदा

लोगों ने कहा कि 33 केवी ग्रिड का निर्माण समय पर हो जाए तो मटली सहित आसपास के 20 गांव व इन गांवों के 60 से अधिक फलियों को बिजली सुविधा मिल सकेगी और कम वोल्टेज की समस्या से भी किसानों को मुक्ति मिलेगी। क्षेत्र के किसान मगन नायक, गोपाल वास्कले, दिनेश जायसवाल, आशीष नरगांवे, राजेंद्र जायसवाल, जगदीश जायसवाल ने शासन से अधूरे 33 केवी ग्रिड के निर्माण को जल्द पूरा कराने की मांग की हैं। साथ ही किसानों ने बताया कि अभी ग्रिड तक 33केवी लाइन भी नहीं पहुंची है।

जल रहे किसानों के मोटरपंप

33केवी ग्रिड निर्माण नहीं होने से मटली, उपला, एकलबारा, सावरदा सहित 20 गांव में कम वोल्टेज आ रहा है। इससे किसानों के बिजली से चलने वाले मोटरपंप जल रहे हैं। किसानों ने शासन से 33 केवी ग्रिड का निर्माण जल्द से जल्द कराने की मांग की हैं। लोगों का कहना है कि पुरानी लाइन पर अत्यधिक लोड हो जाने पर तार गरम होकर टूट जाते हैं। इससे लोगों में जान माल का खतरा बना रहता है। लेकिन इस गंभीर परेशानी को जिम्मेदार बहुत हल्के में ले रहे हैं। 7साल पहले स्वीकृत हो चुके ग्रिड का निर्माण अब तक पूरा नहीं किया जा सका है।

गांवों में नहीं दी जा रही 24घंटे बिजली

इस भीषण गर्मी में भी गांव में 24 घंटे बिजली नहीं दी जा रही है। इससे लोगों का बुरा हाल है। ग्रामीण अपने पशुओं के पीने के लिए पानी की व्यवस्था नहीं कर पा रहे हैं। किसान रूप सिंह ने बताया कि उपला के मोटा फलियां व टांडा फलियां में अभी तक 24 घंटे वाली बिजली की लाइन नहीं डाली है। जबकि एक दो फलियों में 24 घंटे की लाइन देकर जिम्मेदार पूरे गांव में लाइन देने का दावा कर रहे हैं। ग्रामीणों ने मांग की है कि उन्हें भी 24 घंटे बिजली दी जाए।

जल्द पूरा करने के दिए हैं निर्देश

मटली में 33केवी ग्रिड निर्माण का ठेका रतलाम की स्विसगियर कंपनी को दिया है। ठेकेदार को कार्य शुरू कर जल्द पूरा करने के लिए बोला गया है। ग्रिड में ट्रांसफार्मर लगाने के लिए फाउंडेशन बन चुके हैं। अब काम शुरू होकर जल्द पूरा कर लिया जाएगा। अनिल नेगी, अधीक्षण यंत्री, विविकं बड़वानी।

24घंटे बिजली देने के लिए जेई को दिए हैं निर्देश

विधायक ने बताया कि गांवों व फलियों में 24 घंटे बिजली देने के लिए विविकं के जेई को निर्देश दिए हैं। 10 घंटे वाली लाइन में ही एक फेस 24घंटे देने की बात कही है। ताकि लोगों के कूलर व पंखे चल सकें। दीवानसिंह पटेल, विधायक पानसेमल विधानसभा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Palsud

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×