Hindi News »Madhya Pradesh »Palsud» तीन घंटे ही चली कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल, प्रमुख सचिव केे आश्वासन से काम पर लौटे

तीन घंटे ही चली कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल, प्रमुख सचिव केे आश्वासन से काम पर लौटे

नपा परिसर में नारेबाजी करते कर्मचारी व अफसर। रोष : 28 अप्रैल को किया था संचालनालय का घेराव कर्मचारी,...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 19, 2018, 04:35 AM IST

  • तीन घंटे ही चली कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल, प्रमुख सचिव केे आश्वासन से काम पर लौटे
    +2और स्लाइड देखें
    नपा परिसर में नारेबाजी करते कर्मचारी व अफसर।

    रोष : 28 अप्रैल को किया था संचालनालय का घेराव

    कर्मचारी, अधिकारियों ने बताया लंबित मांगों के निराकरण को लेकर कई दिनों से मांग कर रहे हैं। बावजूद कोई सुनवाई नहीं हो रही है। 28 अप्रैल से संघ पदाधिकारियों ने लंबित मांगों के निराकरण को लेकर संचालनालय का घेराव कर विरोध प्रदर्शन किया था। मांग पूरी नहीं होने के चलते कर्मचारी, अधिकारियों में रोष व्याप्त है।

    असर : हड़ताल के कारण सफाई हुई न ही कचरा अड्‌डों से कचरा उठाया

    कर्मचारी, अधिकारियों के हड़ताल पर जाने के बाद दोपहर 3 बजे तक नपा के किसी भी कर्मचारी ने कोई काम नहीं किया। न तो सफाई कर्मचारियों ने सफाई की और न ही कचरा अड्डों से कचरा उठाया। इसके अलावा कार्यालय में होने वाले कार्य भी नहीं किए गए। इसके चलते जन्म प्रमाणपत्र, कर जमा करने सहित शिकायतें लेकर पहुंचे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। हालांकि शहर में पानी सप्लाय किया गया। इसके बाद जल प्रदाय शाखा में होने वाले अन्य कार्य नहीं किए गए।

    हड़ताल : ज्यादा दिन चलती हड़ताल तो नागरिकों को होती अधिक परेशानी

    जानकारी के अनुसार कर्मचारी, अधिकारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर उतरे थे। यदि ये हड़ताल ज्यादा दिन चलती तो शहरवासी परेशान हो जाते। शहर में गंदगी फैलने के साथ ही विकास कार्यों की रफ्तार धीमी हो जाती। हालांकि अब मंगलवार से पहले की तरह ही काम किए जाएंगे। हालांकि सोमवार आम लोगों को कोई काम नहीं हुए। कार्यालयीन काम ही हो सके। क्योंकि हड़ताल का सुनकर लोग सुबह खाली हाथ लौटे गए थे। हड़ताल का समय बढ़ता तो कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता।

    ये हैं प्रमुख मांगे

    निकाय के अधिकारियों, कर्मचारियों, सफाई कर्मचारियों को सातवां वेतनमान का लाभ दिया जाए।

    9 साल बाद भी उपयंत्री और सहायक यात्रियों को समयमान वेतनमान का लाभ नहीं मिला है। जिसे दिया जाए।

    नगरीय निकायों के सितंबर 2016 तक के दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों का विनियमितिकरण किया जाए।

    स्थापना व्यय की सीमा 65 फीसदी के स्थान पर 70 फीसदी की जाए।

    निकायों के सेवाभर्ती नियमों में कम्प्यूटर ऑपरेटरों के पद समाहित किए जाए।

    विभिन्न निकायों में कार्यरत सामुदायिक संगठिकाओं को नियमित किया जाए।

    समर्थन : पलसूद में भी हुआ धरना प्रदर्शन

    पलसूद | नगर परिषद के कर्मचारियों ने मप्र नगर निगम व नगरपालिका कर्मचारी संघ के आह्वान पर सोमवार से काम बंद हड़ताल शुरू की। कर्मचारियों ने नगर परिषद कार्यालय के बाहर एकत्र होकर मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। कर्मचारी संघ की पलसूद इकाई के अध्यक्ष गजेंद्र मांझी ने बताया 6 सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल की है।इस दौरान सब इंजीनियर चंदनसिंह तोमर, लेखापाल ब्रजमोहन सैनी, राजेश शारदीया, दयाशंकर अमझरे, चेतन गुजराती, हाफिज अली, सफाई जमादार गंगाराम डोडवे, विशाल डोडवे, रूपेश मेहरे, कमलेश गुप्ता, पीयूष राठौड़, संजय जोशी, हटेंसिंह सहित कर्मचारी मौजूद थे।

    और इधर.... सफाई हुई न काम निपटे

    अंजड़ | छह सूत्रीय मांगों को लेकर नगर परिषद के कार्यालयीन व सफाईकर्मियों के सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने से जनजीवन प्रभावित हुआ। कार्यालय में नागरिकों के काम नहीं हुए। कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष संजय पाटीदार ने बताया 28 अप्रैल को पदाधिकारियों ने संचालनालय भोपाल का घेराव किया था। इस दौरान नगरीय प्रशासन विभाग के प्रमुख सचिव व वित्तमंत्री ने 6 मांगों का एक माह में निराकरण करने का भरोसा दिया था, जो अब भी अधूरी है। इस हड़ताल में सीएमओ, अग्निशमन व जलप्रदाय शामिल नहीं है। उन्होंने बताया जब तक 6 सूत्रीय मांगों का निराकरण नहीं होगा, हड़ताल जारी रहेगी।

    धरना प्रदर्शन करते कर्मचारी।

    धरना प्रदर्शन करते कर्मचारी।

  • तीन घंटे ही चली कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल, प्रमुख सचिव केे आश्वासन से काम पर लौटे
    +2और स्लाइड देखें
  • तीन घंटे ही चली कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल, प्रमुख सचिव केे आश्वासन से काम पर लौटे
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Palsud

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×