• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Palsud
  • 1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
--Advertisement--

1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में

भास्कर संवाददाता | पलसूद (बड़वानी) जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर स्थित बड़वानी जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत बोरी। यहां...

Dainik Bhaskar

Jun 03, 2018, 04:40 AM IST
1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
भास्कर संवाददाता | पलसूद (बड़वानी)

जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर स्थित बड़वानी जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत बोरी। यहां पंच परमेश्वर योजना के तहत हुए निर्माण कार्य में भारी भ्रष्टाचार हुआ है। पंचायत सचिव ने भाई को ठेकेदार बनाकर लाखों रुपए का भुगतान कर दिया। आठ इंची सीसी रोड की मोटाई-चौड़ाई कम की, वहीं गुणवत्ताहीन निर्माण सामग्री का भी इस्तेमाल किया। इस वजह से सीसी रोड अभी से उखड़ने लगा है।



जानिए पंचायत ने किस तरह से कैसे राशि का दुरुपयोग किया

नाले की मिट्‌टी वाली रेत डाली सीसी रोड निर्माण में

14 वें वित्त आयोग के तहत 6.37 लाख की सीसी रोड मेन रोड से सुथारिया के घर तक बनाई, वहीं ऊपरी फलिया में तीन लाख 60 हजार रुपए की लागत के सीसी रोड में चौड़ाई का कोई मापदंड नहीं रखा और बिना बेस के बना दी गई। इसमें पंचायत सचिव ने ठेकेदार भाई को बताया और निर्माण में नाले की मिट्‌टी वाली रेत का इस्तेमाल किया। हालत यह है कि रोड अभी से उखड़ने लगा है। रेत के बिल में बताया कि रेत गोई नदी से परिवहन कर लाई गई है जबकि रेत नाले से निकालकर निर्माण स्थल पर अभी भी रखी हुई है। कुल मिलाकर करीब पौने 10 लाख रुपए की राशि का दुरुपयोग किया।

सीमेंट खरीदी में भी फर्जीवाड़ा

ठेकेदार ने नवंबर 2017 में 330 रुपए बोरी के हिसाब से 650 बोरी अल्ट्राट्रैक सीमेंट खरीदी के बिल लगाए जबकि उस ब्रांड की सीमेंट खरीदी नहीं गई, वहीं नवंबर 2017 में ही डीलर बुरहानी बिल्डिंग मटेरियल के यहां से रसगांव पंचायत में 320 रुपए प्रति बोरी के हिसाब से सीमेंट बेची गई। यदि सीमेंट खरीदी की जांच हो जाए तो फर्जीवाड़ा सामने आ जाएगा। यही नहीं पंचायत ने समतलीकरण के 70 हजार रुपए के बिल लगाए गए लेकिन समतलीकरण नहीं हुआ। इसी प्रकार डीपीआर के अनुसार दो लाख 40 हजार की लागत से 300 वर्ग मीटर सीसी रोड निर्माण में भी चौड़ाई कम कर दी गई। सार्वजनिक चबूतरा निर्माण, विधायक निधि के तहत आरएमएस निर्माण, स्टाप डेम के कार्य का पैसा सात लाख 11 हजार रुपए का भुगतान गोपाल सेन को कर दिया गया। 13 वें व 14 वें वित्त आयोग के तहत हुए कामों में सचिव के भाई को 21 लाख रुपए से अधिक का भुगतान कर दिया गया।

मजदूरों के बजाय जेसीबी से करवाया काम

इसी प्रकार 13 वें वित्त आयोग के तहत ऊपरी फलिया में 5.78 लाख व 4.80 लाख की सीसी रोड गोपााल सेन ठेकेदार ने बनाई, यह ठेकेदार पंचायत सचिव का भाई है। ग्रामीणों का आरोप है ठेकेदार ने काम मजदूरों के बजाय जेसीबी से करवाया। इस निर्माण कार्य के सामग्री के बिल भी ठेकेदार ने विकास सप्लायर के नाम से लगाए, जबकि यह सप्लायर भी ठेकेदार का रिश्तेदार है। जबकि विकास सप्लायर के नाम से निर्माण सामग्री की कोई रजिस्टर्ड दुकान ही नहीं है। बिल पर टीन नंबर भी नहीं है।

दुगना राशि के िबल लगाए

4200 रु. प्रति ट्रॉली (ट्रिप) गिट्‌टी के बिल लगाए, बाजार में मिल रही 1800-2000 रु. की पूरे मामले में दिलचस्प तथ्य है कि ठेकेदार ने प्रति ट्रिप 4200 रुपए के हिसाब से गिट्‌टी के बिल लगाए जबकि बाजार में 1800 से 2000 रुपए के बीच में प्रति ट्रिप गिट्‌टी मिल रही है। इसी प्रकार 3800 रुपए प्रति ट्रॉली रेत के बिल लगाए गए जबकि बाजार में 1200 से 1500 रुपए में मिल रही है।

बड़वानी जपं की ग्राम पंचायत बोरी में निर्माण कार्यों का हाल, सीमेंट-रेत भी महंगे दामों पर खरीदी, पंचायत सचिव ने भाई को ही ठेकेदार बनाकर किया लाखों रुपए का भुगतान

1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
X
1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
1800 से दो हजार रु. प्रति ट्रिप मिलने वाली गिट्‌टी खरीदी 4200 रुपए में
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..