• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Palsud News
  • कुएं का दूषित पानी पीने से 168 लोग पेटदर्द और दस्त से बीमार, सभी की हालत अब खतरे से बाहर
--Advertisement--

कुएं का दूषित पानी पीने से 168 लोग पेटदर्द और दस्त से बीमार, सभी की हालत अब खतरे से बाहर

भास्कर संवाददाता | अंजड़/बड़वानी अंजड़ के पास स्थित सजवाय गांव में गुरुवार को कुएं का दूषित पानी पीने से गांव के 168...

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2018, 04:45 AM IST
कुएं का दूषित पानी पीने से 168 लोग पेटदर्द और दस्त से बीमार, सभी की हालत अब खतरे से बाहर
भास्कर संवाददाता | अंजड़/बड़वानी

अंजड़ के पास स्थित सजवाय गांव में गुरुवार को कुएं का दूषित पानी पीने से गांव के 168 लोग बीमार हुए हैं। सभी को दस्त और पेटदर्द हुआ। घटना की सूचना लगते ही मौके पर जिला महामारी टीम सहित स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुंची। 166 मरीजों का गांव में ही इलाज किया गया। दो को अंजड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया। अब स्थिति काबू में है।

जिला महामारी अधिकारी डॉ. लक्ष्मी माहोर ने बताया सुबह आशा और एएनएम ने गांव में लोगों के बीमार होने की सूचना दी थी। इसके बाद टीम को गांव भेजकर मरीजों का इलाज कराया। पानी के सैंपल लिए। जिन्हें जांच के लिए इंदौर भेजा गया है। गांव में सर्वे कर सभी को ओआरएस के पैकेट देने के साथ ही लोगों को क्लीनवेट टेबलेट दी गई है। कुएं में दवा डलवाकर पानी साफ कराया गया है। उन्होंने बताया एक ही कुएं का पानी पीने वाले लोग बीमार हुए हैं।

महामारी अधिकारी ने बताया जिस कुएं का पानी पीने से लोग बीमार हुए हैं। उसकी एक तरफ की मुंडेर (बाउंड्रीवाल) टूटी है। इसके चलते दूषित पानी कुएं के पानी से मिल गया। ग्रामीणों ने बताया पिछले 24 घंटे में हुई बारिश का पानी कुएं में मिलने से कुएं का पानी दूषित हो गया था। उन्होंने बताया इस कुएं का एक सप्ताह पहले क्लोरिनेशन किया गया था। अब दोबारा किया गया है।

बारिश का पानी खेतों से बहकर पहुंचा कुएं में इसलिए हुआ दूषित

सजवाय में कुएं का पानी देखते जिला महामारी अधिकारी व ग्रामीण।

20 दिन पहले बोरी गांव के फल्या में फैल चुकी महामारी

जानकारी के अनुसार दूषित पानी पीने से 20 दिन पहले 19 जून को पलसूद के पास स्थित बोरी के जामन्या फल्या में झिरी का पानी पीने से 6 परिवार के 38 लोग उल्टी-दस्त से पीड़ित थे। जिन्हें मेणीमाता स्वास्थ्य केंद्र इलाज के लिए ले जाया गया था। घटना की जानकारी लगते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम सर्वे करने गांव पहुंची थी। साथ ही एसडीएम, तहसीलदार ने भी मौके का मुआयना किया था।

डॉक्टरों से मरीज के परिजनों ने किया अभद्र व्यवहार

अंजड़ के पास सजवाय गांव में दस्त और पेटदर्द से पीड़ित दो मरीजों को अंजड़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया था। जहां ड्यूटी डॉक्टर और मरीज के परिजनों के बीच इलाज को लेकर बहसबाजी हो गई। बहसबाजी इतनी बढ़ गई की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टरों ने परिजनों की शिकायत थाने पर की। साथ ही मरीजों का इलाज बंद कर दिया। जानकारी के अनुसार मरीज के परिजन जगदीश व प्रमोद काग ने बताया मरीज का ठीक से इलाज नहीं किया जा रहा था। जिसका हमने विरोध जताया। वहीं ड्यूटी पर तैनात डॉ. चेतन ब्राह्मणे ने बताया मरीजों का ठीक से इलाज किया जा रहा था लेकिन परिजन ग्लूकोज की बाॅटल को पानी की बताकर हंगामा करने लगे। बीएमओ रंजीत सिंह मुजाल्दा ने बताया सभी मरीजों का ठीक से इलाज किया गया है। बावजूद परिजनों ने डॉक्टरों से साथ अभद्र व्यवहार किया। जब तक इन पर कार्रवाई नहीं होगी तब तक केंद्र में ओपीडी संचालित नहीं की जाएगी।

सात दिन गांव में ही रहेगी टीम

मामले की गंभीरता को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने गांव में डॉक्टरों की टीम नियुक्त की है। 7 दिन तक शिविर का आयोजन कर बीमार लोगों की निगरानी की जाएगी। 24 घंटे तक विशेष निगरानी रखने के टीम को निर्देश दिए गए हैं।

कुएं का दूषित पानी पीने से 168 लोग पेटदर्द और दस्त से बीमार, सभी की हालत अब खतरे से बाहर
X
कुएं का दूषित पानी पीने से 168 लोग पेटदर्द और दस्त से बीमार, सभी की हालत अब खतरे से बाहर
कुएं का दूषित पानी पीने से 168 लोग पेटदर्द और दस्त से बीमार, सभी की हालत अब खतरे से बाहर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..