• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Palsud
  • सीएम ने चार दिन पहले की थी 5 करोड़ रु. देने की घोषणा, कर्ज या सहायता नपाध्यक्ष संशय में
--Advertisement--

सीएम ने चार दिन पहले की थी 5 करोड़ रु. देने की घोषणा, कर्ज या सहायता नपाध्यक्ष संशय में

Palsud News - पलसूद में 17 अप्रैल को हुए महिला सम्मेलन के दौरान मुख्यमंत्री ने बड़वानी और सेंधवा नगरपालिका को 5-5 करोड़ और जिले की 5...

Dainik Bhaskar

Apr 22, 2018, 05:25 AM IST
सीएम ने चार दिन पहले की थी 5 करोड़ रु. देने की घोषणा, कर्ज या सहायता नपाध्यक्ष संशय में
पलसूद में 17 अप्रैल को हुए महिला सम्मेलन के दौरान मुख्यमंत्री ने बड़वानी और सेंधवा नगरपालिका को 5-5 करोड़ और जिले की 5 नगर परिषद को 3-3 करोड़ रुपए देने की घोषणा की थी लेकिन अभी यह तय नहीं है कि राशि किस मद में मिलेेगी। वहीं सीएम की घोषणा वित्तीय संस्था का कर्ज रहेगा या सहायता, इसको लेकर नपाध्यक्ष संशय की स्थिति में है, क्याेंकि सीएम ने पांच साल पहले मुख्यमंत्री जलावर्धन योजना की घोषणा की थी और हुडको से करीब 25 करोड़ रुपए लोन के रूप में मिले थे, जो अब नपा किस्तों में चुका रही है। जबकि तीन साल पहले से स्वीकृत कामों को अब तक मंजूरी नहीं मिली है। इन सबके चलते परिषद पदाधिकारियों को ऐसा लग रहा है कि हाल ही में की गई सीएम की घोषणा भी किसी और वित्तीय संस्था को कर्ज के रूप में न चुकाना पड़े।

पिछली परिषद के कामों का भुगतान भी निर्माण एजेंसी नपाध्यक्ष से मांग रही है। नपा का खजाना खाली होने से विकास कार्य ठप पड़े हैं। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की करोड़ों रुपए देने घोषणा के बाद से राजनीतिक हल्के में चर्चा का दौर जारी है। सूत्रों की माने तो शुक्रवार को नपा में हुई बैठक में कुछ सदस्यों ने पार्षदों से वार्डों की जरूरत अनुसार विकास कार्यों की डीपीआर बनाने की सलाह तक दे डाली है। जबकि कारंजा चौक से ओलिंपिक सर्कल तक डिवाइडर निर्माण, सेंट्रल लाइटिंग व पैवर, कॉम्प्लेक्स निर्माण सहित अन्य काम अटके हुए हैं। डिवाइडर निर्माण के लिए करीब 8 करोड़ रुपए की डीपीआर तैयार है लेकिन सीएम से मंजूरी के अभाव में अब तक काम शुरू नहीं हो सका है।

पोल लगाए लेकिन लाइट नहीं लगे।

जलावर्धन में खर्च किए थे 25 करोड़ रु., डिवाइडर व स्ट्रीट लाइट के काम अटके

जलावर्धन योजना की शुरू हुई किस्त

मुख्यमंत्री जलावर्धन योजना के लिए हुडको से राशि मिली थी। योजना पर 25 करोड़ रुपए खर्च हुए थे। हुडको द्वारा 3 से 4 फीसदी ब्याज वसूला जा रहा है। वर्ष 2013 में मुख्यमंत्री ने पीएचई कार्यालय परिसर में करोड़ों रुपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन व शिलान्यास किया था। इसमें शहरवासियों के लिए मुख्यमंत्री जलावर्धन योजना भी शामिल है। 16 मई 2013 को योजना का कार्य शुरू हुआ था। 15 मई 2014 तक काम पूरा होना था। लेकिन पाइप लाइन डालने में देरी से योजना 4 साल में पूरी हो सकी। योजना में निर्माण कार्य पर 20.43 करोड़ रुपए खर्च होना थे, लेकिन देरी के चलते 25 करोड़ रुपए राशि पर पहुंच गई।

इलाहाबाद बैंक से मिला ढाई करोड़ का लोन

21 जनवरी 2017 को जनजाति सम्मेलन में सीएम ने 5 करोड़ रुपए देने की घोषणा की थी। 25 फीसदी राशि सरकार ने पहले दे दी थी। कुछ समय पहले इलाहाबाद बैंक से ढाई कराेड़ रुपए बतौर लोन मिले हैं। इस राशि पर नपा को 3 प्रतिशत ब्याज देना होगा। नपाध्यक्ष लक्ष्मण चौहान ने बताया इस राशि से सीसी रोड, फिल्टर प्लांट व टंकियाें के आसपास बाउंड्री वाल, पैवर, नाले निर्माण का कार्य किया जाएगा।

तीन फर्मों ने रोकी लैम्प की सप्लाय, 15 लाख देना बाकी

शहर के कारंजा चौक से बस स्टैंड तक डिवाइडर में लगे लैम्प दुरुस्त करवाने के लिए एक माह पहले रिपेयरिंग के लिए निकलवाए थे, जो अब तक नहीं लगाए गए हैं। डिवाइडर में 30 से ज्यादा लैम्प खराब है। वहीं 15 लाख रुपए बकाया होने से तीन फर्मों ने लैम्प की सप्लाय रोक दी है। इसके चलते शहर के मुख्य मार्गों व कॉलोनियों में अंधेरा पसरा रहता है। गणगौर पर्व के दौरान नपाध्यक्ष ने किराए पर हैलोजन व लैम्प की व्यवस्था की थी। इसी तरह पाइप लाइन मरम्मत की सामग्री का 27 लाख रुपए बकाया है।

कॉम्प्लेक्स व दुकान निर्माण अधर में

तीन साल पहले अंजड़ नाका स्थित निजी अस्पताल से ओलंपिक सर्कल तक रोड चौड़ीकरण, झंडा चौक में सब्जी मंडी सहित थाने के सामने, जवाहर मार्ग पर कॉम्प्लेक्स का निर्माण होना था। लेकिन अब तक इन कामों के लिए कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

विशेष मद में राशि मिली तो बनेगा ऑडिटोरियम हॉल

विशेष मद में राशि मिलने पर सेंधवा में ढाई करोड़ रुपए से ऑडिटोरियम हॉल व काॅम्प्लेक्स का निर्माण होगा। शेष ढाई करोड़ रुपए से शहरी क्षेत्र से लगे वरला रोड पर डिवाइडर निर्माण सेंट्रल लाइटिंग व पैवर लगाने का काम होगा। जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री अधोसंरचना विकास में राशि मिलने पर सड़क, नाली निर्माण कार्य ही हो सकेंगे।

अनुदान की करेंगे मांग


X
सीएम ने चार दिन पहले की थी 5 करोड़ रु. देने की घोषणा, कर्ज या सहायता नपाध्यक्ष संशय में
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..