Hindi News »Madhya Pradesh »Palsud» डस्टबिन बांटे नहीं फिर भी हरे में गीला और नीले में सूखा कचरा डालने को कह रही नपा

डस्टबिन बांटे नहीं फिर भी हरे में गीला और नीले में सूखा कचरा डालने को कह रही नपा

शहर को स्वच्छ बनाने के लिए नगर पालिका अब तक डस्टबिन तक नहीं बंटवा पाई है। जबकि लोगों से कहा जा रहा है गीला हरे और...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 04, 2018, 06:00 AM IST

डस्टबिन बांटे नहीं फिर भी हरे में गीला और नीले में सूखा कचरा डालने को कह रही नपा
शहर को स्वच्छ बनाने के लिए नगर पालिका अब तक डस्टबिन तक नहीं बंटवा पाई है। जबकि लोगों से कहा जा रहा है गीला हरे और सूखा नीले डस्टबिन में कचरा रखें और कचरा वाहन में भी अलग-अलग कचरा डालें। वहीं अब तक कचरा वाहनों में जीपीएस सिस्टम भी नहीं लगा है। इसके अलावा चौराहों पर शौचालय की व्यवस्था नहीं है और हर 100 मीटर के दायरे में लगने वाले डस्टबिन भी सभी स्थानों पर नहीं लगे हैं। शहर को स्वच्छ बनाने के लिए केवल औपचारिकता ही निभाई जा रही है।

नपा अधिकारियों ने बताया डस्टबिन बांटने के लिए टेंडर जारी हुए थे। लेकिन अच्छी कंपनियों ने टेंडर प्रक्रिया में भाग नहीं लिया। इसके चलते डस्टबिनों की खरीदी नहीं हो सकी। अब दोबारा से टेंडर जारी होंगे। हालांकि अधिकारियों का कहना है जल्द ही डस्टबिन शहर में बांटे जाएंगे। बता दें नपा के पास कचरा निपटान के लिए भी ट्रेचिंग ग्राउंड नहीं है। ऐसे में कचरा रहवासी क्षेत्रों में डाला जा रहा है।

वाहनों में जीपीएस सिस्टम भी नहीं लगे

नगर पालिका परिसर में खड़े नए कचरा वाहन।

स्वच्छता के मामले में पड़ोसी जिला हमसे काफी बेहतर

जानकारी के अनुसार पड़ोसी जिला खरगोन में स्वच्छता को लेकर नपा खासे प्रयास कर रही है। यहां पर सभी कचरा वाहनों में जीपीएस सिस्टम लगे 6 माह का समय हो चुका है। डस्टबिन भी एक साल पहले ही लोगों को बांट दिए गए हैं। स्वच्छता एप से लोगों को पता चल रहा है की कचरा वाहन कहां है और कब तक उनके घर पहुंचेगा। रात और दिन में अतिरिक्त सफाई की जा रही है।

सर्वेक्षण 2018 में नप से पीछे रह गई नपा

जानकारी के अनुसार कुछ दिन पहले शहर को स्वच्छ बनाने के लिए स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 अभियान चलाया गया था। इसमें बड़वानी नपा का 527 वां नंबर लगा था। वहीं जिले में नगर परिषदों से पीछे नपा बड़वानी थी। जिले में सबसे अच्छी स्थिति पलसूद और दूसरे पर अंजड़ है। बड़वानी जिले में ही चौथे स्थान पर है।

जानिए...वोवादे जो नपा ने शहरवासियों से किए थे

नपा लोगों से सूखा और गीला कचरा अलग-अलग लेकर खाद तैयार किया जाएगा। गीले कचरे से जैविक व सूखे से कंपोस्ट खाद तैयार कर किसानों को बेचा जाएगा।

कचरा निपटान के लिए ट्रेचिंग ग्राउंड बनाने कलेक्टर से जमीन की मांग की है। जमीन मिलने के बाद ट्रेचिंग ग्राउंड बनाया जाएगा।

कचरा वाहनों में जीपीएस सिस्टम लगवाया जाएगा।

डस्टबिनों की खरीदी कर शहर में बांटे जाएंगे।

अभी अतिरिक्त सफाई कराई जा रही है। आगे प्रयास है की बड़े स्तर पर अभियान चलाकर सफाई कराई जाए।

शौचालय निर्माण के लिए स्थानों का चयन हो चुका है। जल्द ही निर्माण कार्य शुरू होगा।

ऐसे...सुधरसकती है शहर में सफाई व्यवस्था

कचरा वाहनों को एक निर्धारित समय पर घुमाने से।

खाली प्लाटों व यहां-वहां कचरा फेंकने वाले लोगों पर जुर्माने की कार्रवाई करके।

डस्टबिन का उपयोग नहीं करने वाले दुकानदारों पर जुर्माना लगाकर।

रात और दिन में अतिरिक्त सफाई होनी चाहिए।

बांटे जाएंगे डस्टबिन

शहर को स्वच्छ बनाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। जल्द ही शहर के लोगों को डस्टबिन बांटे जाएंगे। -लक्ष्मण चौहान, नपाध्यक्ष बड़वानी।

चलाया जाएगा अभियान

शहर को स्वच्छ बनाने के लिए रात में भी सफाई कराई जा रही है। इसके अलावा अभियान चलाकर सफाई कराई जाएगी। -कुशलसिंह डोडवे, नपा सीएमओ बड़वानी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Palsud

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×