रैली िनकाल बिरजू नायक समाधी का किया पूजन / रैली िनकाल बिरजू नायक समाधी का किया पूजन

Palsud News - स्थानीय मंडी प्रांगण में आदिवासी संगठनों के माध्यम से वीर शहीद बिरजू नायक के शहादत दिवस पर कार्यक्रम आयोजन किया...

Bhaskar News Network

May 04, 2018, 07:50 AM IST
रैली िनकाल बिरजू नायक समाधी का किया पूजन
स्थानीय मंडी प्रांगण में आदिवासी संगठनों के माध्यम से वीर शहीद बिरजू नायक के शहादत दिवस पर कार्यक्रम आयोजन किया गया। आदिवासी एकता परिषद व जयस कार्यकर्ताओं ने बताया सुबह10 बजे समीपस्थ ग्राम सावरदा स्थित बांडी हवेली में वीर शहीद बिरजू नायक का पारंपरिक रूप से पूजन किया गया। सावरदा मिडिल स्कूल टावर के पास में एकत्रित होकर बाईक रैली के साथ एकलबारा, पुराना पंचायत भवन से होते हुए उपला में बिरजू नायक समाधि स्थल पर पहुंचें। यहां समाधी स्थल का पूजन कर वापस उपला फाटा होते हुए सिदडी से होते हुए पलसूद नगर के मुख्य मार्ग से मंडी प्रांगण में रैली का समापन हुआ। दोपहर एक बजे से आदिवासी शहीदों का पूजन कर सभा शुरू की गई।

सभा की शुरुआत में आदिवासी योद्धा बिरजू नायक के आंदोलन को आगे बढ़ाते हुए आदिवासियों के अधिकारों के लिए संवैधानिक रूप से संघर्ष करने के लिए रामसिंग भाई को संविधान की पुस्तक देकर सम्मानित किया गया। आदिवासी एकता परिषद जिला अध्यक्ष गुलालिया कनासे ने बिरजू नायक के जीवन व समाज के लिए किए गए संघर्ष की जानकारी दी। सांसद रतलाम कांतिलाल भूरिया, राष्ट्रीय महासचिव आदिवासी एकता परिषद अशोक दादा चौधरी, आनंदराव कोवे महासचिव आदिवासी विकास परिषद, चंद्रभागा किराड़े, सुनील बागले, गजानंद ब्राह्मणे, महेंद्र कन्नौज, राजेश कन्नौजे, राजेंद्र मंडलोई, सीमा वास्कले, रंजना ताई, अनिल सस्त्या ने अपने विचार रखे।

सभा के अंत में अतिथियों के नेतृत्व में उपस्थित कार्यकर्ताओं द्वारा रोजगार गारंटी योजना के तहत रोजगार दिलाने, ट्यूबवेल खनन के लिए अनुदान देने, पलसूद में तहसील शुरू करने, वन अधिकार पत्र, गांव के पटेल पुजारा व वारतीय गांव डाहला और बारगाया को महाराष्ट्र की तरह मध्यप्रदेश में भी भत्ता या मानदेय दिए जाने सहित विभिन्न मांगों को लेकर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन नायब तहसीलदार छगनलाल नागराज को सौंपा गया।

सभा के दौरान उपस्थित संगठनों के कार्यकर्ता व समाजजन।

X
रैली िनकाल बिरजू नायक समाधी का किया पूजन
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना