--Advertisement--

आदिकाल की अस्तित्व के रक्षक हैं आदिवासी : इरपाचे

पाथाखेड़ा के राजेंद्र नगर में चल रहे गोंडी धर्म पूनेम दर्शन गाथा के दौरान गोंडी प्रवर्तक तिरुमाल शंकर शाह इरपाचे...

Dainik Bhaskar

Jan 09, 2018, 04:05 AM IST
आदिकाल की अस्तित्व के रक्षक हैं आदिवासी : इरपाचे
पाथाखेड़ा के राजेंद्र नगर में चल रहे गोंडी धर्म पूनेम दर्शन गाथा के दौरान गोंडी प्रवर्तक तिरुमाल शंकर शाह इरपाचे ने लिंगों के बारे में कथा बताई। आदिवासी जय सेवा समिति एवं महिला युवा मंडल के तत्वावधान में यहां आयोजन हो रहा है। 12 जनवरी तक यहां कथा का वाचन होगा। कथा में रोज सैकड़ों लोग शामिल हो रहे हैं। इरपाचे ने बताया समस्त भू भाग पर मातृ और पितृ शक्ति धर्म के रक्षक हैं। उन्होंने कहा गोंडी धर्म की अस्मिता और अस्तित्व आदिकाल से सुरक्षित रखने वाले सभी कोयावंशीय और बड़ा देव के श्रद्धालुओं की गाथा पूनेम में आती है। इस दौरान उन्होंने राजा फूल सिंह और उनके बेटे की कथा सुनाई। कुपर लिंगों के बारे में जानकारी दी। कथा के दौरान काफी संख्या में श्रद्धालु यहां पहुंच रहे हैं। समापन 16 जनवरी को होगा।

X
आदिकाल की अस्तित्व के रक्षक हैं आदिवासी : इरपाचे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..