--Advertisement--

आदिकाल की अस्तित्व के रक्षक हैं आदिवासी : इरपाचे

पाथाखेड़ा के राजेंद्र नगर में चल रहे गोंडी धर्म पूनेम दर्शन गाथा के दौरान गोंडी प्रवर्तक तिरुमाल शंकर शाह इरपाचे...

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 04:05 AM IST
पाथाखेड़ा के राजेंद्र नगर में चल रहे गोंडी धर्म पूनेम दर्शन गाथा के दौरान गोंडी प्रवर्तक तिरुमाल शंकर शाह इरपाचे ने लिंगों के बारे में कथा बताई। आदिवासी जय सेवा समिति एवं महिला युवा मंडल के तत्वावधान में यहां आयोजन हो रहा है। 12 जनवरी तक यहां कथा का वाचन होगा। कथा में रोज सैकड़ों लोग शामिल हो रहे हैं। इरपाचे ने बताया समस्त भू भाग पर मातृ और पितृ शक्ति धर्म के रक्षक हैं। उन्होंने कहा गोंडी धर्म की अस्मिता और अस्तित्व आदिकाल से सुरक्षित रखने वाले सभी कोयावंशीय और बड़ा देव के श्रद्धालुओं की गाथा पूनेम में आती है। इस दौरान उन्होंने राजा फूल सिंह और उनके बेटे की कथा सुनाई। कुपर लिंगों के बारे में जानकारी दी। कथा के दौरान काफी संख्या में श्रद्धालु यहां पहुंच रहे हैं। समापन 16 जनवरी को होगा।