• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Pathakheda News
  • मच्छरों की समस्या बताओ तो सेनेटरी इंस्पेक्टर कहते हैं हाथों में एंटी मॉस्किटो जैल लगाओ
--Advertisement--

मच्छरों की समस्या बताओ तो सेनेटरी इंस्पेक्टर कहते हैं हाथों में एंटी मॉस्किटो जैल लगाओ

नगर पालिका में बुधवार को प्रेसिडेंट इन काउंसिल की बैठक आरोप-प्रत्यारोप के बीच गहमा-गहमी भरी रही। बैठक के दौरान...

Danik Bhaskar | Mar 29, 2018, 04:30 AM IST
नगर पालिका में बुधवार को प्रेसिडेंट इन काउंसिल की बैठक आरोप-प्रत्यारोप के बीच गहमा-गहमी भरी रही। बैठक के दौरान पीआईसी मैंबर संतोष देशमुख ने शहर में गंदगी होने और मच्छरों के बढ़ने की समस्या बताई। उन्होंने कहा जब सेनेटरी इंस्पेक्टर को इसकी समस्या बताते हैं तो वे हाथों में एंटी मॉस्किटो जैल लगाने की सलाह देते है। मगर, शहर में सफाई और मच्छरमार का छिड़काव नहीं किया जाता। लोग बीमार हो रहे हैं, परेशान हैं पर किसी का ध्यान नहीं। सीएमओ ने कहा छिड़काव का रोस्टर चार्ट तैयार कर सफाई कराई जाएगी।

नगर पालिका में वित्तीय वर्ष की आखिरी पीआईसी की बैठक बुधवार दोपहर 2 बजे से शुरू हुई। अध्यक्ष आशा भारती की अध्यक्षता में विभागीय अधिकारियों की मौजूदगी में 8 बिंदुओं पर चर्चा हुई। जिसमें सभी को सहमति दे दी। निर्माण कार्यों और पेयजल परिवहन की दरों को मंजूरी भी दी गई। पीआईसी सभापतियों ने कहा परिषद बने 7 महीने हो गए, लेकिन एक बार भी उन्हें यह नहीं बताया गया आखिर कितनी राशि के कार्य पीआईसी ने मंजूर किए हैं। जबकि निश्चित अंतराल के बाद इसे दिया जाना चाहिए। बैठक के दौरान सभापति श्री देशमुख ने कहा व्यवस्थित विवरण दिया जाना चाहिए। सीएमओ पवन राय ने लेखाधिकारी शिवांगी जादौन को प्रत्येक तीन महीने में पीआईसी के हर सदस्य को लेखा विवरण देने के निर्देश दिए। सफाई को लेकर आई आपत्ति पर सीएमओ ने कहा नपा ने कुछ कीटनाशक और सेनिटेशन सामग्री खरीदने की निविदा निकालने की तैयारी की थी, लेकिन बाद में पता चला कुछ सामग्री स्टॉक में है। स्वास्थ्य सभापति सेनेटरी इंस्पेक्टर के साथ एक्सपायरी डेट की जांच करें। जरूरत होने पर नई सामग्री क्रय कर रोस्टर चार्ट बनाएं। फिर वार्डों में सफाई होगी।

सारनी। नगर पालिका में पीआईसी की बैठक में मौजूद नपा अध्यक्ष और सभापति।

38 डिग्री से ज्यादा हो तापमान तो नहीं होंगे सीमेंट के कार्य

पीआईसी सदस्यों ने कहा निर्माण कार्यों में क्वालिटी से समझौता नहीं होगा। नपाध्यक्ष ने कहा कम दरों पर काम हो रहे हैं, इसका मतलब ये नहीं कि ठेकेदार को फायदा पहुंचाने कार्यों की गुणवत्ता से समझौता किया जाए। गुणवत्ता बेहतर होगी तभी बिल जारी होगा। सीएमओ श्री राय ने कहा 38 डिग्री से ज्यादा तापमान होने पर सीमेंट के निर्माण कार्य पूरी तरह से बंद करा दें। क्वालिटी बेहतर रखने की जिम्मेदारी एई और उपयंत्रियों की है। काम के दौरान जांच हों और तत्काल सुधार हो। काम पूरा होने के बाद गुणवत्ता सुधार नहीं हो सकती।

कार्यों की गुणवत्ता और पेयजल परिवहन पर जोर


वार्डों में ही होगा राशनकार्ड और पेंशन संबंधित समस्याओं का समाधान

नगर पालिका के अधिकारी और जनप्रतिनिधि वार्डों में जाकर ही लोगों की समस्याओं का समाधान करेंगे। 10 अप्रैल के बाद वार्ड स्तर पर इसके लिए अभियान चलाया जाएगा। नपाध्यक्ष भारती ने कहा राशन कार्ड और पेंशन संबंधित समस्याओं को लेकर वार्डों के लोग परेशान रहते हैं। उन्हें तत्काल सुविधा देने के लिए नपा के संबंधित अधिकारी, कर्मचारी नपाध्यक्ष, सीएमओ और वार्ड पार्षद के साथ एक दिन वार्ड का भ्रमण करेंगे। जितना हो सके समस्याओं का समाधान मौके पर करेंगे। उपयंत्री के साथ निर्माण कार्यों की गुणवत्ता भी देखेंगे।

इन प्रस्तावों पर हुई चर्चा