Hindi News »Madhya Pradesh »Pathakheda» हथियारबंद नकाबपोशों ने सिक्युरिटी गार्ड को कमरे में किया बंद, एलएचडी मशीन के पार्ट्स और केबल लूटी

हथियारबंद नकाबपोशों ने सिक्युरिटी गार्ड को कमरे में किया बंद, एलएचडी मशीन के पार्ट्स और केबल लूटी

वेस्टर्न कोल फील्ड्स की तवा-2 खदान में बीती रात नकाबपोश हथियारबंद डकैत घुस आए। डकैतों ने खदान के अगले हिस्से से...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 30, 2018, 05:00 AM IST

वेस्टर्न कोल फील्ड्स की तवा-2 खदान में बीती रात नकाबपोश हथियारबंद डकैत घुस आए। डकैतों ने खदान के अगले हिस्से से पथराव किया। इसके बाद सुरक्षा अमला और कर्मचारी सामने आने लगे तो पीछे से खदान पर हमला बोल दिया। खदान के भीतर बने सब स्टेशन के अटेंडर के गले पर कुल्हाड़ी अड़ाकर उसे बंधक बनाया। सुरक्षा गार्ड को कमरे में बंद किया और स्टोर समेत 4 स्थानों के ताले तोड़कर यहां से 2.31 लाख रुपए का सामान चोरी कर लिया।

वेस्टर्न कोल फील्ड्स की तवा-2 खदान सतपुड़ा डेम के उस पार जंगल में स्थित है। चोपना और इससे सटे क्षेत्रों के लोग यहां से नाव से पहुंचकर कई बार लूट और डकैती की वारदात काे अंजाम दे चुके हैं। बुधवार-गुरुवार की रात भी करीब 3 से 4.30 बजे के बीच 18 से 20 हथियारबंद, नकाबपोश घुस आए। दो से तीन लोगों ने छिपकर खदान के सब स्टेशन के सामने पथराव किया। इसके बाद जब सिक्युरिटी गार्ड अलर्ट हुआ और बाहर आया तो नकाबपोशों ने उसे पीछे से पकड़ लिया। कमरे में बंद कर दिया। सब स्टेशन के भीतर घुसकर अटेंडर केशो मास्टर के गले पर कुल्हाड़ी अड़ा दी। इसके बाद डकैतों ने यहां के चार स्थानों के ताले तोड़कर एलएचडी का सामान लूट लिया। यहां से 20 स्वावेल, कॉपर केबल, 1 पेयर केबल समेत 2.31 लाख रुपए का समान उड़ा ले गए। तवा-2 खदान के सब एरिया मैनेजर एनपी सैनी ने इसकी शिकायत की है। चोपना पुलिस मामले में जांच कर रही है।

नाव के सहारे आते हैं लुटेरे व डकैत, सुरक्षा के इंतजाम बौने

सतपुड़ा डेम के किनारे बनी खदान के पिछले हिस्से में आने के लिए लुटेरों और डकैतों को नाव का सहारा लेना पड़ता है। इसी रास्ते से वे हर बार घटना को अंजाम देते हैं। उनके लिए फायदे की बात यह है कि खदान पर इक्का-दुक्का सुरक्षा गार्ड होने के कारण चोरों के लिए काम आसान हो जाता है। खदान पर सुरक्षा के इंतजाम है नाकाफी हैं। इसे लेकर तीन दिन पहले ही सुरक्षा विभाग ने प्रबंधन को इसकी जानकारी दी थी। तीसरे ही दिन यह वारदात हो गई।

यूनियनों के पदाधिकारी बोले: ऐसे में ड्यूटी कैसे करेंगे कामगार

पाथाखेड़ा क्षेत्र की यूनियनों के पदाधिकारियों ने डकैती की घटना को लेकर रोष प्रकट किया है। एटक के महामंत्री श्रीकांत चौधरी ने बताया कामगार काम करने जाने में कतरा रहे हैं। भय का माहौल है। पुलिस और सुरक्षा अमला कार्रवाई नहीं कर रहा। बीएमएस के अध्यक्ष प्रकाश राव ने बताया कामगारों के लिए लगातार माहौल बन रहा है। चोर और डकैत हथियारबंद होते हैं। इसलिए भय का माहाैल है। इधर एचएमएस के महामंत्री संजय सिंह ने बताया घटना की जानकारी प्रबंधन को देकर यहां सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने की मांग की है।

सारनी। वेस्टर्न कोल फील्ड्स की तवा - 2 खदान में चोरों ने धावा बोलकर 2 लाख से ज्यादा का माल उड़ा लिया।

थोक में आते चोर

डब्ल्यूसीएल सुरक्षा अमले के पास सीमित संसाधन और स्टाफ है। सभी जरूरी स्थानों पर बल रखना होता है। संदिग्ध स्थानों पर ज्यादा निगरानी और गश्त की जा रही है। चोपना पुलिस का भी सहयोग लिया है। जीवन सिंह चौहान, सुरक्षा अधिकारी पाथाखेड़ा एरिया

खदानों में कब-कब हुई

घटनाएं

12 फरवरी को पाथाखेड़ा सब स्टेशन से एल्युमिनियम के तार समेत ढाई लाख का सामान।

20 फरवरी को छत्तपुर 1 खदान में बदमाशों ने 60 मीटर आर्म्ड केबल चोरी किया।

23 फरवरी की रात शोभापुर, छत्तरपुर 2 और तवा-2 खदान में अलग-अलग समय में बदमाशों ने धावा बोलकर चोरी की। गार्डों से मारपीट।

6 मार्च तवा-2 खदान में बदमाशों का हमला। कीमती सामान चोरी, एक कर्मचारी घायल हुआ।

9 मार्च तवा - 2 खदान में फिर घुसे बदमाश, चोरी की।

कार्रवाई कर रहे हैं

चोरों की तलाश में पुलिस जुटी हुई है। लगातार वारदातें करने वाले चोरों का एक ही गैंग हैं। चोरों के गांवों में दबिश भी दी जा रही है। डब्ल्यूसीएल को सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने के लिए कहा है। पंकज दीक्षित, एसडीओपी सारनी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pathakheda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×