--Advertisement--

छतरपुर को मिली हाई स्कूल की सौगात पेयजल संकट का भी होगा निदान

छतरपुर के आदिवासी बच्चों को अब हाई स्कूल की पढ़ाई करने पाथाखेड़ा नहीं जाना पड़ेगा। नए सत्र में गांव में ही हाई स्कूल...

Danik Bhaskar | Jan 08, 2018, 05:50 AM IST
छतरपुर के आदिवासी बच्चों को अब हाई स्कूल की पढ़ाई करने पाथाखेड़ा नहीं जाना पड़ेगा। नए सत्र में गांव में ही हाई स्कूल की कक्षाएं शरू होंगी। रविवार को छतरपुर पहुंचकर क्षेत्रीय विधायक चेतराम मानेकर ने ग्रामवासियों के बीच हाई स्कूल स्वीकृत होने की घोषणा की। गांव में गंजनसिंह का स्मारक बनाने के लिए 1 लाख रुपए देने की घोषणा भी उन्होंने की। लगभग 4 हजार की जनसंख्या वाले आदिवासी बाहुल्य छतरपुर पंचायत में अभी तक सिर्फ मिडिल स्कूल था। हाई स्कूल की पढ़ाई के लिए यहां के बच्चों को 10 किमी दूर पाथाखेड़ा या शोभापुर काॅलोनी जाना पड़ता था। चौपाल पर ग्रामवासियों को संबोधित करते हुए विधायक ने कहा आने वाले समय मे 1 करोड़ की लागत से हाई स्कूल का भवन भी बनेगा। ग्रामवासियों ने विधायक को सिंचाई, पेयजल एवं वोल्टेज की समस्याएं बताईं। विधायक ने कहा जल का स्रोत तलाश कर स्थल नलजल योजना के माध्यम से पानी की आपूर्ति की व्यवस्था की जाएगी। विधायक ने सरपंच, सचिव से प्रधानमंत्री आवास और केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी ली। इस अवसर पर भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य कमलेश सिंह ने भी ग्रामवासियों को संबोधित किया।

सारनी। ग्रामीणों के बीच घोषणा करते विधायक चेतराम मानेकर।