--Advertisement--

हिंदुत्व जाति, धर्म नहीं, जीवन जीने की शैली है: डॉ. राय

सारनी। केशव प्रभात शाखा के वार्षिकोत्सव में शारीरिक प्रदर्शन करते स्वयं सेवक। भास्कर संवाददाता| सारनी ...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:15 AM IST
हिंदुत्व जाति, धर्म नहीं, जीवन जीने की शैली है: डॉ. राय
सारनी। केशव प्रभात शाखा के वार्षिकोत्सव में शारीरिक प्रदर्शन करते स्वयं सेवक।

भास्कर संवाददाता| सारनी

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की केशव प्रभात शाखा का वार्षिकोत्सव पाथाखेड़ा के फुटबाॅल मैदान में हुआ। इसमें वक्ताओं ने हिंदू राष्ट्र और धर्म के बारे में जानकारी दी। मुख्य वक्ता डॉ. बसंत राय ने कहा हिंदुत्व कोई जाति, धर्म या समुदाय नहीं अपितु जीवन जीने की अभूतपूर्व शैली है।

मुख्य वक्ता अखिल भारती मजदूर संघ के डॉ. राय ने कहा हिंदुत्व सर्वे भवंतु सुखिन: के मूलमंत्र के साथ काम करना सिखाता है। इस देश में रहने वाले, जो इस देश से संबंध रखते हैं, जो इस संस्कृति पर गौरव करते हैं, वह सब हिंदू हैं। सबको संगठित होकर रहना चाहिए। क्योंकि समूचे विश्व को हमारी आवश्यकता है। संघ की शाखा के माध्यम से हम पुण्य, पवित्र कार्य को अंजाम दे सकते हैं। इस मौके पर यहां 25 स्वयं सेवकों ने शरीरिक प्रदर्शन किया। इसमें सूर्य नमस्कार और दंड योग, योगासन किया। कार्यक्रम को मुलताई से आए जिला संघ चालक अरुण द्विवेदी ने संबोधित किया। सामूहिक समता रखने के उद्देश्य को लेकर यहां शाखा संचालित की जा रही है। इस मौके पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के स्थानीय पदाधिकारी मौजूद थे।

X
हिंदुत्व जाति, धर्म नहीं, जीवन जीने की शैली है: डॉ. राय
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..