• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Pathakheda News
  • खंभे लगाते समय तोड़ी नाली, पार्षदों ने विरोध किया तो ठेकेदार के सुपरवाइजर ने दी गाली
--Advertisement--

खंभे लगाते समय तोड़ी नाली, पार्षदों ने विरोध किया तो ठेकेदार के सुपरवाइजर ने दी गाली

पाथाखेड़ा क्षेत्र के 19 वार्डों में बिजली लाइन विस्तार का काम कर रही कंपनी का ठेकेदार लगातार विवादित काम कर रहा है।...

Danik Bhaskar | Feb 02, 2018, 06:15 AM IST
पाथाखेड़ा क्षेत्र के 19 वार्डों में बिजली लाइन विस्तार का काम कर रही कंपनी का ठेकेदार लगातार विवादित काम कर रहा है। गुरुवार को पाथाखेड़ा में पार्षदों के साथ ठेकेदार ने कथित अभद्रता की। इसके बाद मामला भड़क गया। क्षेत्र के पार्षद खंभे लगाने के काम में नाली बंद होने से नाराज थे। मिट्‌टी हटाने काे कहा तो ठेकेदार के मेट ने पार्षदों के साथ गाली-गलौज कर ली। इसके बाद मामला बढ़ गया। पार्षदों ने काम बंद कराने की मांग की और मामले की लिखित शिकायत थाने में दर्ज कराई। नपा सीएमओ ने जांच के निर्देश दिए हैं।

पाथाखेड़ा में बिजली लाइन का काम कर रहा ठेकेदार बैतूल के कुछ बड़े भाजपा नेताओं के दम पर काम करने का कहकर स्थानीय लोगों के साथ मनमाना व्यवहार कर रहा है। इसे लेकर लोग पहले से ही परेशान थे। गुरुवार को लाइन विस्तार के काम के दौरान संतोषी माता मंदिर के पास खंभे लगाने काम चल रहा था। गड्‌ढा खोदने के दौरान नाली का एक हिस्सा टूट गया। पार्षद संदीप झपाटे, बबलू वामनकर, शमशेर आलम, बबलू वामनकर, नरेंद्र उघड़े और रुखसाना शमशेर आलम ने नाली का सुधार कर मिट्‌टी हटाने काे कहा तो मेट ने पार्षदों के साथ गाली-गलौज की। पार्षदों ने सीएमओ पवन राय को फोन लगाया, लेकिन उन्होंने रिसीव नहीं किया। गुस्साए पार्षद पुलिस चौकी पहुंचे और ठेकेदार के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई। नपा पहुंचकर सीएमओ से भी शिकायत की।

सारनी। ठेकेदार ने इस तरह नाली तोड़ दी है।

पार्षदों ने कहा गालियां दीं और चौपहिया में दबाने की धमकी भी

पार्षदों ने लिखित शिकायत में बताया ठेकेदार के कर्मचारी और सुपरवाइजर ने उन्हें गालियां दीं। इसके अलावा चौपहिया वाहन के नीचे दबाने की धमकी दी। पार्षद संदीप झपाटे, अजय साकरे, पूर्व पार्षद शमशेर आलम, बबलू वामनकर, नरेंद्र उघड़े और रुखसाना आलम ने चौकी पहुंचकर शिकायत की। उन्होंने ठेकेदार के सुपरवाइजर पर प्रकरण दर्ज करने की मांग की।

नपा पहुंचे पार्षद बोले : माफी मांगने से नहीं चलेगा काम, एफआईआर कराओ

नगर पालिका सीएमओ ने जब पार्षदों का फोन रिसीव नहीं किया तो पार्षद कार्यालय पहुंच गए। यहां सीएमओ से मिलकर उन्होंने पूरी जानकारी दी। सीएमओ ने कहा वे ठेकेदार को बुलवा देते हैं, माफी मांग लेगा। इस पर गुस्साए पार्षदों ने कहा माफी मांगने से काम नहीं चलेगा। दोषियों पर एफआईआर होनी चाहिए। पार्षदों ने बताया यहां बगैर सेफ्टी के काम हो रहा है। ठेकेदार को कहने पर वह धमकाता है। गुणवत्ताहीन काम पर कार्रवाई होनी चाहिए। सीएमओ ने कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।