• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Pathakheda News
  • वार्डों में पेयजल संकट, नपा जैविक खाद बनाने नर्सरी में सींच रही टैंकर से पानी
--Advertisement--

वार्डों में पेयजल संकट, नपा जैविक खाद बनाने नर्सरी में सींच रही टैंकर से पानी

पाथाखेड़ा और शोभापुर कॉलोनी के वार्डों में पेयजल संकट की स्थिति है। सर्दी के दिनों में भी यहां टैंकरों से पानी...

Danik Bhaskar | Feb 08, 2018, 06:35 AM IST
पाथाखेड़ा और शोभापुर कॉलोनी के वार्डों में पेयजल संकट की स्थिति है। सर्दी के दिनों में भी यहां टैंकरों से पानी सप्लाई हो रहा है। इसके बाद भी पानी की पूर्ति नहीं हो पा रही है। नगर पालिका भी बराबर टैंकर भी नहीं भिजवा पा रही है। इतना पेयजल संकट होने के बाद भी पाथाखेड़ा की संजय निकुंज नर्सरी में बने नाडेप में नपा का पेयजल खाद बनाने के लिए उपयोग हो रहा है। इसे लेकर वार्डों के लोगों ने आपत्ति लेते हुए सीएमओ से शिकायत की।

नगर पालिका ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत शहर के कई क्षेत्रों में विभिन्न निजी संस्थाओं से नाडेप खाद के गड्ढे तैयार कराए हैं। वार्ड 20 के पार्षद संदीप झपाटे ने बताया संस्था की बजाए नगर पालिका के टैंकर पानी डालने का काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया पार्षदों के समक्ष कोई स्थिति भी स्पष्ट नहीं की जाती। पार्षद वार्डों में पानी बंटवाने के लिए टैंकर बुलवाते हैं और अधिकारी खाद में पानी डलवा लेते हैं। ऐसे में वार्ड के लोग बिना पानी के रहते हैं। उन्होंने इसमें सुधार की मांग की। पूर्व पार्षद शमशेर आलम ने बताया वार्ड 19 के भी कई हिस्सों में टैंकर नहीं पहुंच पाते हैं। इससे काफी परेशानी होती है।

सारनी। सारनी के छोटा मठारदेव में पानी भरते टैंकर।

पाथाखेड़ा के कई हिस्सों में नहीं मिल रहा पानी

डब्ल्यूसीएल क्षेत्र के पाथाखेड़ा और शोभापुर कॉलोनी के कई हिस्सों में पेयजल का संकट है। गर्मी के बाद से यहां संकट खत्म नहीं हुआ। नपा की पेयजल योजना का काम चल रहा है इसलिए छोटे-छोटे प्रोजेक्ट बंद कर रखे हैं। इन वार्डों में टैंकरों से ही पानी की सप्लाई होती है। सारनी के छोटा मठारदेव से नगर पालिका के टैंकर तो वार्डों के लिए चलते हैं, लेकिन यहां तक पहुंच नहीं पाते। वार्डों में पार्षदों की डिमांड पर टैंकर भेजने के निर्देश पहले ही दिए जा चुके हैं।

मछलीकांटा की स्थिति खराब, सुधार के निर्देश भी काम नहीं आए

नगर पालिका के वार्ड 10 में स्थित छोटा मठारदेव के कुएं से पूरे शहर में पानी सप्लाई होता है। मगर, यहां के लोगों को पानी नहीं मिल रहा है। नगर पालिका द्वारा शुरू की गई पेयजल योजना में एक हिस्से को ही पानी दिया जा रहा है। जबकि दो हिस्सों को पानी की ज्यादा जरूरत है। इसे लेकर ही दो दिनों पहले लोगों ने यहां टैंकर रोककर प्रदर्शन किया था। यहां सुधार के निर्देश थे, लेकिन काम कुछ नहीं हुआ।

पाथाखेड़ा की संजय निकुंज नर्सरी में नाडेप में पानी सींचता नपा का टैंकर।

हर वार्ड में भरपूर पानी देने के निर्देश हैं