• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Pathakheda
  • जलसंकट की आहट : नगर पालिका ने डब्ल्यूसीएल से मांगा पानी, पीआईसी मैंबर्स मिलेंगे सीजीएम से
विज्ञापन

जलसंकट की आहट : नगर पालिका ने डब्ल्यूसीएल से मांगा पानी, पीआईसी मैंबर्स मिलेंगे सीजीएम से / जलसंकट की आहट : नगर पालिका ने डब्ल्यूसीएल से मांगा पानी, पीआईसी मैंबर्स मिलेंगे सीजीएम से

Bhaskar News Network

Feb 17, 2018, 07:00 AM IST

Pathakheda News - शहर में गर्मी बढ़ने के साथ जलसंकट की आहट सुनाने लगी है। नगर पालिका इससे काफी चिंतित है। हालांकि पेयजल योजना पर काम...

जलसंकट की आहट : नगर पालिका ने डब्ल्यूसीएल से मांगा पानी, पीआईसी मैंबर्स मिलेंगे सीजीएम से
  • comment
शहर में गर्मी बढ़ने के साथ जलसंकट की आहट सुनाने लगी है। नगर पालिका इससे काफी चिंतित है। हालांकि पेयजल योजना पर काम चल रहा है। फिलहाल यह पूरी हो नहीं सकती। इसे लेकर अब नगर पालिका ने डब्ल्यूसीएल से फिल्टर प्लांट से पानी की मांग की है। इसके लिए अगले एक-दो दिनों में पीआईसी मेंबर्स अध्यक्ष आशा भारती के साथ सीजीएम उदय ए. कावले से मिलेंगे। बैठक में दो बड़े टैंकर, पांच टीपर आैर एक बड़ा शव वाहन खरीदने को मंजूरी दी है।

वित्तीय वर्ष 2018-19 के बजट के अनुमोदन को लेकर आयोजित बैठक में 15 मुद्दों पर चर्चा की। नगर पालिका अध्यक्ष आशा भारती की अध्यक्षता में हुई पीआईसी की बैठक में सभी मुद्दों पर विचार हुआ। स्वच्छ भारत मिशन के तहत पांच हाडड्रोलिक टीपर खरीदे जाएंगे। इसके अलावा जलप्रदाय के लिए 2 बड़े टैंकरों की खरीदी भी होना है।

पीआईसी सदस्यों ने कहा पाथाखेड़ा के वार्डों में सारनी के छोटा मठारदेव से पानी पहुंचाने में नपा का अतिरिक्त डीजल लगता है। इसके अलावा पानी पहुंचने में समय भी लगता है। इसलिए यहां के वार्डों के लिए पानी की व्यवस्था डब्ल्यूसीएल के फिल्टर प्लांट से हो सकती है। उन्होंने कहा सभी मिलकर सीजीएम से पानी की मांग करेंगे। इससे वार्डों में दिनभर में 2 टैंकरों की बजाए चार टैंकर पानी बांटा जा सकता है।

सीएमओ ने बताया बड़ा शव वाहन, बाजार के चबूतरों की मरम्मत, वार्ड 22 में रिटर्निंग वाॅल, पाथाखेड़ा बाजार स्थल पर प्रीकाॅस्ट शौचालय, वार्ड 14 में आरसीसी रिटर्निंग वाॅल समेत अन्य कार्यों को मंजूरी दी।

सारनी। पीआईसी की बैठक में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करते सदस्य।

ये भी तय हुआ बैठक में


कोडिंग आधारित होगा बजट, प्रावधान पर ही होगा खर्च

नपा ने वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए कोडिंग आधारित बजट बनाया है। ई नपा के तहत अब ऐसा ही होगा। सीएमओ पवन कुमार राय ने बताया कोडिंग आधारित बजट में हर मद का कोड होगा। इसी आधार पर यह खर्च होगा। प्रावधान बिना बजट खर्च नहीं हो सकता। नपा ने प्रारंभिक रूप से 55.22 करोड़ रुपए का बजट तैयार किया है।

X
जलसंकट की आहट : नगर पालिका ने डब्ल्यूसीएल से मांगा पानी, पीआईसी मैंबर्स मिलेंगे सीजीएम से
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन