• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Pathakheda
  • रजिस्ट्रार से मिली 3 रसीद बुक दूसरा गुट कर रहा फर्जी सदस्यता
--Advertisement--

रजिस्ट्रार से मिली 3 रसीद बुक दूसरा गुट कर रहा फर्जी सदस्यता

सारनी। कार्यालय में रजिस्ट्रार से मिली रसीद बुक दिखाते महामंत्री संजय सिंह। भास्कर संवाददाता | सारनी हिंदू...

Dainik Bhaskar

Mar 28, 2018, 07:05 AM IST
रजिस्ट्रार से मिली 3 रसीद बुक दूसरा गुट कर रहा फर्जी सदस्यता
सारनी। कार्यालय में रजिस्ट्रार से मिली रसीद बुक दिखाते महामंत्री संजय सिंह।

भास्कर संवाददाता | सारनी

हिंदू महासभा से जुड़ी कोयला श्रमिक सभा के कार्यालय में मंगलवार को महामंत्री संजय सिंह ने प्रेस को संबोधित किया। उन्होंने कहा कोर्ट के आदेश पर उन्हें, केंद्रीय अध्यक्ष उमाशंकर सिंह और कपिलदेव सिंह के नाम से रसीद बुकें जारी हुई हैं। यही वैध सदस्यता है, लेकिन दूसरे एरिया से कुछ गडि्डयां लाकर दूसरा गुट फर्जी सदस्यता कर रहा है। उन्हें करीब 3500 रसीदें मिली हैं। 6 अप्रैल को रजिस्ट्रार के पास बुक जमा की जाएगी। औद्योगिक न्यायालय ने उनके पक्ष में फैसला सुनाकर उमाशंकर सिंह को केंद्रीय अध्यक्ष माना है। इनकी अध्यक्षता में ही सदस्यता, सत्यापन और अधिवेशन होगा। एचएमएस यूनियन के संजय सिंह, नरेंद्र मिश्रा, दलबीर सिंह, राजेश देशमुख, सुनील उपराले, कपिलदेव सिंह ने बताया दूसरा पक्ष बाहरी क्षेत्रों से सदस्यता बुक लाकर कामगारों को गुमराह कर रहा है। मामले की लिखित शिकायत संगठन ने रजिस्ट्रार को की है।

केंद्रीय अध्यक्ष उमाशंकर सिंह ने संगठन के तीन नेताओं को संघ विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण 6 -6 साल के लिए निलंबित किया है। एचएमएस के कार्यवाहक अध्यक्ष रहे अशोक नामदेव, जेसीसी मेंबर अमृतलाल रघुवंशी, एरिया टीएससी शमशेर सिंह को निष्कासित किया है। पत्र प्राप्ति के तीन दिनों के भीतर तीनों से स्पष्टीकरण भी मांगा है।

कोर्ट के निर्देश की अवहेलना हो रही : नामदेव

एचएमएस के एक अन्य ग्रुप से जुड़े क्षेत्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष अमृतलाल रघुवंशी और महामंत्री अशोक नामदेव ने एक लैटर हेड पर प्रेस नोट जारी कर बताया पाथाखेड़ा क्षेत्र में कोर्ट के आदेशों की अवहलेना हो रही है। उन्होंने कहा कोर्ट ने सभी खदानों की और केंद्रीय कार्यकारिणी भंग करते हुए नई गठित करने के निर्देश दिए थे। कोर्ट के आदेश के अनुसार सारे कार्य रजिस्ट्रार के माध्यम से होंगे, लेकिन स्थानीय स्तर पर ऐसा नहीं हो रहा है। 10 मई तक नागपुर में चुनाव के बाद ही नई कार्यकारिणी का गठन होगा, लेकिन यहां के पदाधिकारी पूरी तरह से अवहेलना कर रहे हैं।

X
रजिस्ट्रार से मिली 3 रसीद बुक दूसरा गुट कर रहा फर्जी सदस्यता
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..