Hindi News »Madhya Pradesh »Pathakheda» शहर में रोज 85 टैंकर पानी की जरूरत बंट रहे 65, अभी 20 टैंकर की कमी

शहर में रोज 85 टैंकर पानी की जरूरत बंट रहे 65, अभी 20 टैंकर की कमी

Bhaskar News Network | Last Modified - May 08, 2018, 04:30 AM IST

शहर में रोज 85 टैंकर पानी की जरूरत बंट रहे 65, अभी 20 टैंकर की कमी
पार्षदों ने नपा में लिखकर दिया नपा के टैंकरों से करें सप्लाई

नपा ने 22 से ज्यादा स्थाई टंकियां बनाई वे भी खालीं

भास्कर संवाददाता | सारनी

शहर में नगर पालिका की तमाम व्यवस्थाओं के बाद भी रोज 20 से ज्यादा टैंकर पानी की सप्लाई कम पड़ रही है। नपा 20 ठेके के और 6 स्वयं के टैंकरों से पानी सप्लाई कर रही है। इसके बाद भी ट्रिप पूरी नहीं हो पा रही हैं। ऐसे में लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। शहर में टैंकरों से पानी सप्लाई के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं होने के कारण स्थिति खराब हो रही है। शोभापुर कॉलोनी के वार्डों में दिन-दिन भर इंतजार के बाद भी टैंकर नहीं आ रहे। पार्षदों ने अब ठेकेदारों के टैंकरों को वार्ड में नहीं भिजवाने पत्र लिख दिया है।

डब्ल्यूसीएल की पेयजल व्यवस्था गड़बड़ाने के बाद अब शोभापुर, पाथाखेड़ा में पानी सप्लाई का पूरा दारोमदार नगर पालिका के कंधों पर आ गया है। नपा ने इन क्षेत्रों के वार्डों के लिए किराए के निजी टैंकरों के जरिए पानी सप्लाई की व्यवस्था बनाई है। लेकिन यह भी कम पड़ रहे हैं। शहर में रोज 85 टैंकर पानी की जरूरत है, लेकिन सप्लाई हो पा रहा है 60 से 65 टैंकर पानी। ऐसे में करीब 20 टैंकर पानी रोज कम पड़ रहा है। नपा के टैंकर तो समय पर पूरा पानी पहुंचा रहे हैं, लेकिन किराए के टैंकर पानी पूरा नहीं दे पा रहे हैं। नपा द्वारा ठेकेदार को रोज मिलने वाला टारगेट भी पूरा नहीं हो पा रहा है। इस हालत में सारे शहर में पानी संकट खड़ा है। व्यवस्था से गुस्साई पार्षद लता पवार, रश्मि बारंगे ने ठेकेदार के टैंकर वार्ड में नहीं भेजने की मांग की।

डब्ल्यूसीएल के ऊपर के आवासों में नहीं आ रहा पानी, लोगों ने लगाए मिनी पंप : डब्ल्यूसीएल के आवासों में ज्यादा पानी भरने के चक्कर में लोगों ने घरों में मिनी पंप लगा रखे हैं। इससे ऊपरी क्षेत्रों के आवासों में पानी नहीं जा पा रहा है। इससे संकट ज्यादा गहरा गया है। खुद डब्ल्यूसीएल भी इन पंपों से परेशान है। मगर, इन्हें जब्त करने की कोई कार्रवाई नहीं हुई। पार्षद लता पवार ने बताया उनके वार्ड की डब्ल्यूसीएल कॉलोनी में पूरी तरह से नपा का पानी सप्लाई हो रहा है।

सारनी। शोभापुर कॉलोनी में पार्षद लता पवार के पति जगदीश पवार पानी बांटते हुए।

कैलाश नगर में असामाजिक तत्वों ने तोड़ी टंकी, पानी की किल्लत

कैलाश नगर में नगर पालिका ने स्थाई तौर पर लगाई 10 हजार लीटर पानी की टंकी को असामाजिक तत्वों ने तोड़ दिया। इसके बाद यहां पेयजल संकट की स्थिति निर्मित हो गई। अंगद पवार, ललित वराठे, जयप्रकाश गोविंद नागले, पिंटिश सरकार, लीलाधर, राजेश ठाकुर समेत अन्य लोगों ने बताया अब यहां के लोगों को पीने के पानी की समस्या उठानी पड़ रही है। नपा ने सप्ताह भर पहले यहां पानी की टंकी रखवाई थी। लोगों ने दोबारा नई टंकी रखने की मांग की।

प्राइवेट टैंकरों को 51 तो नपा के टैंकरों को 35 ट्रिप का टारगेट

नगर पालिका ने प्राइवेट टैंकरों के लिए 51 और नगर पालिका के टैंकरों के लिए 35 ट्रिप अनिवार्य किए हैं। नपा के डिमांड नोट के अनुसार वार्ड 14 से 17, 20, 23, 29 में 2-2 टैंकर, वार्ड 21, 14, 26, 27, 28 में 1-1, वार्ड 18, 19, 22, 33, 34 और 36 में 4-4 टैंकर पानी देने के आदेश हैं। इसके अलावा वार्ड 35 में 3, वार्ड 30-32 में 1-1 टैंकर पानी देना है। मगर, वार्डों में बमुश्किल 1-1 टैंकर पानी पहुंच रहा है।

व्यवस्थाएं बना रहे हैं, स्थिति बेहतर है

अन्य शहरों की तुलना में सारनी की स्थिति ठीक है। यहां इतने टैंकर भी पानी बांटा जा रहा है। जो कमियां हैं उन्हें एक-दो दिनों में पूरा करा दिया जाएगा। वृहद स्तर पर पानी पहुंचाना कठिन कार्य है। नपा के टैंकरों के फेरे बढ़ाए जा रहे हैं। जहां ट्यूबवेल हैं उन्हें दुरुस्त कराया जा रहा है। पवन कुमार राय, सीएमओ, नपा सारनी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pathakheda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×