पाठाखेड़ा

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Pathakheda News
  • रोज 1.05 लाख यूनिट बिजली की खपत अब हर घंटे हो रही कटौती, लोग परेशान
--Advertisement--

रोज 1.05 लाख यूनिट बिजली की खपत अब हर घंटे हो रही कटौती, लोग परेशान

सारनी। पाथाखेड़ा के सब स्टेशनों पर लोड ज्यादा होने के कारण कटौती बढ़ है। हर महीने 2.20 करोड़ रुपए से ज्यादा का बिल ...

Danik Bhaskar

May 11, 2018, 04:35 AM IST
सारनी। पाथाखेड़ा के सब स्टेशनों पर लोड ज्यादा होने के कारण कटौती बढ़ है।

हर महीने 2.20 करोड़ रुपए से ज्यादा का बिल

विद्युत वितरण कंपनी का सबसे बड़ा ग्राहक डब्ल्यूसीएल है। हर महीने 1 करोड़ से ज्यादा का बिल डब्ल्यूसीएल सामान्य दिनों में अदा करता है। मगर, गर्मी के दिनों में बिजली की खपत रोज 63 हजार यूनिट ज्यादा बढ़ गई है। जबकि सामान्य दिनों में 42 से 45 हजार प्रतिदिन खपत होती थी। इस कारण बिजली बिल भी 2.20 करोड़ हो गया है। यानी अकेले बिजली से ही कंपनी को 2 करोड़ से ज्यादा का घाटा हर महीने उठाना पड़ रहा है।

नगर पालिका की योजना धीमी रफ्तार से, बिजली आने के बाद ही दूर होगी समस्या

नगर पालिका पाथाखेड़ा और शोभापुर कॉलोनी के 19 वार्डों में ठेकेदार के माध्यम से बिजली विस्तार का काम कर रही है। धीमी रफ्तार से काम के कारण दिक्कतें हैं। यदि यहां बिजली विस्तार का काम तेजी से पूरा हो जाए और वितरण कंपनी की बिजली यहां पहुंच जाएं तो सभी को 24 घंटे बिजली उपलब्ध होगी। बस बिजली मुफ्त में नहीं मिलेगी इतना फर्क होगा।

हर घर में लगे हाईपावर स्टेबलाइजर, बंद नहीं होती पंखे,कूलर की स्विच

पाथाखेड़ा और शोभापुर कॉलोनी में किसी के घर बिजली का बिल नहीं आता। डब्ल्यूसीएल कामगारों को मुफ्त में बिजली मुहैया कराना है। मगर, अतिक्रमण कर कॉलोनियों में बसे लोग प्रबंधन के बिजली, पानी का मुफ्त उपयोग कर रहे हैं। यहां वोल्टेज अप-डाउन होने के कारण हर घर में हाई पावर कैपेसिटी वाले स्टेबलाइजर लगे हैं। तो पंखे और कूलर जैसे उपकरणों की बटनें कभी बंद ही नहीं की जाती। कई घरों में तो अलग-अलग क्षेत्रों की लाइनों की अलग-अलग बटनें लगी हैं। यानी एक क्षेत्र की लाइन गुल हो तो बटन चालू कर दूसरे क्षेत्र से जोड़ दिया जाता है।

तेजी से काम करने के निर्देश हैं


Click to listen..