--Advertisement--

श्रमिकों का शोषण रोकना ही सीटू का उद्देश्य : दत्ता

सारनी| श्रमिकों की बेहतरी के लिए काम करना और उन्हें उनका हक दिलाना ही सीटू यूनियन काम है। इसी उद्देश्य से इसकी...

Dainik Bhaskar

Jun 01, 2018, 04:50 AM IST
श्रमिकों का शोषण रोकना ही सीटू का उद्देश्य : दत्ता
सारनी| श्रमिकों की बेहतरी के लिए काम करना और उन्हें उनका हक दिलाना ही सीटू यूनियन काम है। इसी उद्देश्य से इसकी स्थापना भी हुई। कोल इंडिया जैसे संस्थान में भी श्रमिकों का शोषण हो रहा है। इसे रोकने के लिए पूरी ताकत से जुटना होगा। उक्त बातें सीटू के केंद्रीय अध्यक्ष डीके दत्ता ने कही। वे पाथाखेड़ा में सीटू के स्थापना दिवस को संबोधित कर रहे थे।पाथाखेड़ा के सीटू कार्यालय में यूनियन का स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया। श्री दत्ता ने कहा 1970 में चारों श्रमिक संगठनों की स्थापना के बाद सीटू की स्थापना हुई। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के विभाजन के बाद जनसंगठन की आवश्यकता को देखते हुए सीटू गठन हुआ। स्थापना का उद्देश्य कामगारों को उनका हक दिलाना है। रोटी, कपड़ा और मकान के सिद्धांत के साथ जाति भेद से परे कार्य किया जा रहा है। इस दौरान ध्वजारोहण के बाद गीत गायन हुआ। कार्यक्रम में अन्य वक्ताओं ने संबोधित किया। सभी ने श्रमिकों के हित में कार्य करने का संकल्प लिया। आशा, उषा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए यूनियन सतत कार्य कर रही है। इसके अलावा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए भी काम किया जाएगा। इस मौके पर यूनियन के अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

X
श्रमिकों का शोषण रोकना ही सीटू का उद्देश्य : दत्ता
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..