• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Pathakheda News
  • खदानों पर लगी बायोमैट्रिक में नहीं लगी आउट अटेंडेंस, कामगारों की सैलरी अटकी
--Advertisement--

खदानों पर लगी बायोमैट्रिक में नहीं लगी आउट अटेंडेंस, कामगारों की सैलरी अटकी

खदानों में बायोमैट्रिक अटेंडेंस के कारण वेतन देरी से हुआ। बीएमएस बोली वेतन पर्ची और फार्मेट में भी अंतर ...

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 05:20 AM IST
खदानों में बायोमैट्रिक अटेंडेंस के कारण वेतन देरी से हुआ।

बीएमएस बोली वेतन पर्ची और फार्मेट में भी अंतर

भारतीय कोयला खदान मजदूर संघ ने भी इस मामले में आपत्ति ली है। उन्होंने कहा प्रबंधन को आउट अटेंडेंस के रूल को पहले ही लागू करना था। महामंत्री अशोक मालवीय ने बताया सभी पाथाखेड़ा को छोड़कर सभी एरिया का वेतन एरिया ऑफिस में ही बनता है। अकेले पाथखेड़ा का वेतन डब्ल्यूसीएल के नागपुर मुख्यालय में बनता है। इससे भी वेतन में देरी होती है। जबकि नियमानुसार यहीं वेतन बनना चाहिए। श्री मालवीय ने बताया वेतन पर्ची के फार्मेट में भी असमानता है। नागपुर का फार्मेट अलग अौर पाथाखेड़ा का अलग बना है। इसमें एकरूपता जरूरी है। इसके अलावा वेतन भी पाथाखेड़ा से ही होना चाहिए।