• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Pathakheda News
  • बगडोना में बिना आदेश झंडी, बैनर निकालने पहुंची नपा की स्काई लिफ्ट, बजरंगियों ने रोका, बैठक में हुई सुलह
--Advertisement--

बगडोना में बिना आदेश झंडी, बैनर निकालने पहुंची नपा की स्काई लिफ्ट, बजरंगियों ने रोका, बैठक में हुई सुलह

शॉपिंग सेंटर में झंडियां निकालने के लिए नपा की स्काई लिफ्ट खड़ी रही, लेकिन कार्यकर्ताओं ने काम नहीं करने दिया।...

Danik Bhaskar | Apr 12, 2018, 06:45 AM IST
शॉपिंग सेंटर में झंडियां निकालने के लिए नपा की स्काई लिफ्ट खड़ी रही, लेकिन कार्यकर्ताओं ने काम नहीं करने दिया।

प्रतिमा के पास से हटाएंगे ध्वज शेष जगह साथ में करेंगे सजावट

बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने कहा आंबेडकर प्रतिमा के आस-पास लगे सभी भगवा ध्वज और झंडियां हटाने के लिए वे तैयार हैं, लेकिन शेष जगह से इसलिए नहीं हटाएंगे क्योंकि 18 अप्रैल को परशुराम जयंती है। अन्य जगह भगवा के साथ नीले ध्वज, झंडियां लगाने में उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। कार्यकर्ताओं ने स्पष्ट किया आंबेडकर सभी के लिए आदर्श हैं। इसलिए वे खुद भी सजावट में सहयोग करेंगे। बजरंगदल की ओर से आंबेडकर जयंती मनाए जाने की परंपरा भी है। इस तरह सारी बातों पर मंथन के बाद साथ में सजावट की बात पर सहमति बनी।

सारनी। शॉपिंग सेंटर में नपा के प्रभारी अधिकारी भावसार को समस्या सुनाते लोग।

हर बार होता है विवाद, फिर समय सीमा क्यों तय नहीं करता प्रशासन

शहर में हर त्योहार के बाद झंडी, बैनर, पोस्टर निकालने और हटाने को लेकर विवाद होता है। धरना, प्रदर्शन, पुतला दहन तक हो गए। मगर, इस पूरे मामले को प्रशासन ने कभी गंभीरता से नहीं लिया। बुधवार को हुए घटनाक्रम में नपा के अधिकारी फंसे हुए थे। भला हो मामला सामंजस्य से सुलझ गया। हिंदू, मुस्लिम अथवा किसी अन्य संगठन के झंडी, बैनर सभी बिना परमिशन के लगाए जाते हैं। इसके अलावा सभी शासकीय इमारतों, पेड़ों और खंभों का उपयोग कर लगाए जा रहे हैं। इनके लिए कोई नियम ही नहीं बने। जबकि इस तरह के धार्मिक झंडियां लगाने के लिए परमिशन और निकालने की अवधि तक आयोजकों से लिखवाकर लेनी चाहिए।