• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Pathakheda News
  • जर्जर टंकी के आसपास के रहवासी बन रहे रोड़ा, 1 माह से अटका तोड़ने का काम
--Advertisement--

जर्जर टंकी के आसपास के रहवासी बन रहे रोड़ा, 1 माह से अटका तोड़ने का काम

सारनी। सुभाष नगर में इस तरह टैंकरों के सामने कतार लगाकर लोग पानी भरते हैं। कब्जेधारियों की सूची परिसर में...

Danik Bhaskar | May 06, 2018, 07:40 AM IST
सारनी। सुभाष नगर में इस तरह टैंकरों के सामने कतार लगाकर लोग पानी भरते हैं।

कब्जेधारियों की सूची परिसर में चस्पा की

डब्ल्यूसीएल ने टंकी को खाली कराने के तमाम जतन कर लिए। अब टंकी परिसर के आस-पास डिस्मेंटल की सूचना लिखी है। इसके अलावा उन 12 परिवार के मुखियाओं के नाम भी सार्वजनिक किए हैं, जिनके कारण टंकी का डिस्मेंटल नहीं हो पा रहा है। इनमें खेमलाल बारपेटे, आशा बाई, जेनुद्दीन अंसारी, अब्दुल रहीम अंसारी, शेख आशिक, नूर अंसारी, वजीर, संकुल सिंह, नामदेव माकोड़े, दिनेश झरबड़े, रमेश बसुने और ओमप्रकाश कुमार के नाम शामिल हैं। इस पर बाकायदा लिखा है। इनके द्वारा कब्जे नहीं हटाए जाने के कारण टंकी का डिस्मेंटल रुका हुआ है।

सारनी। टंकी के डिस्मेंटल के लिए सर्वे करने पहुंचे डब्ल्यूसीएल के अधिकारी।

पेयजल संकट : टैंकर आते ही लग जाती है कुप्पियों की कतार, पार्षद बंटवाता है पानी

सुभाष नगर में भीषण पेयजल संकट की स्थिति है। नगर पालिका के टैंकर यहां पहुंचते हैं। दोपहर में टैंकर पहुंचते ही लोगों की भीड़ लग जाती है। हालत यह होती है लोग टैंकर आने के पहले से ही कुप्पियों की कतार लगाकर रखते हैं। विवाद से बचने के लिए यहां के पार्षद संदीप झपाटे खुद खड़े रहकर पानी बंटवाते हैं। नगर पालिका ने शहर में पानी बंटवाने के लिए किराए के टैंकर लगा रखे हैं।