Hindi News »Madhya Pradesh »Pathakheda» राजनीति के पचड़े में फंसी नगर बचाओ उद्योग बचाओ समिति की हड़ताल

राजनीति के पचड़े में फंसी नगर बचाओ उद्योग बचाओ समिति की हड़ताल

सारनी। जय स्तंभ चौक पर क्रमिक भूख हड़ताल चौथे दिन बैठे लोग। केंद्र और राज्य सरकार कर रही जुमलेबाजी : मो. इलियास ...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 04, 2018, 07:50 AM IST

राजनीति के पचड़े में फंसी नगर बचाओ उद्योग बचाओ समिति की हड़ताल
सारनी। जय स्तंभ चौक पर क्रमिक भूख हड़ताल चौथे दिन बैठे लोग।

केंद्र और राज्य सरकार कर रही जुमलेबाजी : मो. इलियास

क्रमिक भूख हड़ताल को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता मो. इलियास ने कहा केंद्र और राज्य सरकार जुमलेबाजी के अलावा कुछ नहीं कर रही है। जिले के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्र का विकास होने की बजाय यह पीछे जा रहा है। यहां के जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के कारण ऐसा हो रहा है। अब क्षेत्र बर्बाद होने की कगार पर है। जनप्रतिनिधि बस फोटो खींचवाने और समाचारों की हेडलाइन बनने पर भरोसा करते हैं। क्रमिक भूख हड़ताल के तीसरे दिन सामाजिक कार्यकर्ता देवमन लाल डेहरिया, आचार्य सुरेश जावलकर, महाकाल सेवा समिति के हरीश पटेल, शिव सेना के ब्लॉक अध्यक्ष संदीप तायड़े भूख हड़ताल पर बैठे। संयोजक कृष्ण मोदी, रामा वाईकर, रामू पवार ने कहा जनता को ऐसे आंदोलनों में आगे आकर विरोध करना चाहिए। तभी मांगें पूरी होंगी। राकेश महाले ने कहा राजनीतिक सौदेबाजी एवं संकुचित हितों को बढ़ावा देकर क्षेत्र में स्थानीय मुद्दों नुकसान पहुंचाया है। धरना स्थल पर गंगाधर चढ़ोकार, किशोर चौकीकर, भैयालाल नर्रे, रमेश भुमरकर, राजेश पवार, भगवान जावरे शामिल थे। चौथे दिन शुक्रवार को कम्युनिस्ट पार्टी के वार्ड 29 पार्षद संतोष देशमुख, राजेंद्र सिंह, पंकज मोदी, रंगलाल वाईकर 24 घंटे की क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठेंगे।

विकास की इतनी चिंता तो सांसद, विधायक को क्यों नहीं बुलाते बैठक में : भाजपा

भाजपा के रंजीत सिंह और सुधा चंद्रा ने कहा नगर बचाओ, उद्योग बचाओ समिति के अग्रणी और नेता कभी भाजपा सांसद, विधायक के पास नहीं गए। ना ही भाजपा नेताओं को बैठक में बुलाया। विकास की इतनी चिंता है तो फिर सर्वदलीय बैठक कर सभी को क्यों नहीं एकजुट किया। समिति में शामिल कुछ नेतानुमा लोग भाजपा सांसद, विधायक से मिलने में कतराते हैं। कथित लोग पीछे से आंदोलन का संचालन कर रहे हैं और संचालनकर्ता इनके हाथों की कठपुतली बने बैठे हैं। भाजपा ने काम किए हैं और जनता सब जानती है। सांसद, विधायक के साथ कोयला मंत्री पीयूष गोयल के साथ मुलाकात कर यहां की गांधीग्राम और तवा-3 खदानें खोले जाने की मांग की। यह प्रस्तावित है। भाजपा नेताओं ने ही मुख्यमंत्री से औद्योगिक क्षेत्र विकास की मांग की यह भी पूरी हो गई। मुख्यमंत्री ने 660 मेगावाट की इकाई लगाने का पूरा भरोसा दिलाया है। भाजपा के शासन काल में टट्टा कॉलोनी में बिजली, 90 करोड़ की पेयजल योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, पाथाखेड़ा-शोभापुर में बिजली पोल, राजडोह पुल का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों मे पुल व सड़कों का जाल, 24 घंटे बिजली ये मध्यप्रदेश सरकार की देन है।

समिति की मांगें और भाजपा के जवाब

मांग:
सारनी में 660 मेगावाट की इकाई की स्थापना जल्द हो

जवाब: ड्राइंग डिजाइन तैयार, हर स्तर पर मिल गई है मंजूरी

मांग: पाथाखेड़ा में तवा-2, गांधीग्राम और शक्तिगढ़ खदानें खोलें

जवाब: तवा-2 और गांधीग्राम के लिए सर्वे पूरा हो गया, प्रक्रियाधीन

मांग: सूखाढाना चोरडोंगरी में औद्योगिक क्षेत्र का विकास

जवाब: औद्योगिक क्षेत्र के लिए बजट मिल गया है, सुधार कार्य जारी, इकाइयां लगेंगी

मांग: तहसील का दर्जा मिला तो कार्यालय खेलें, लोगों को सुविधा दें

जवाब: नगर पालिका को टप्पा तहसील के लिए भवन उपलब्ध कराने के निर्देश कलेक्टर दे चुके हैं

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pathakheda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×