पाती

--Advertisement--

धुलेंडी, रंगपंचमी पर सूखी होली खेलकर बचाएं पानी

धुलेंडी और रंगपंचमी पर्व हर्षोल्लास से मनाएं। गुलाल एवं प्राकृतिक रंगों से सूखी होली खेलकर पानी बचाएं। गुरुवार...

Danik Bhaskar

Mar 02, 2018, 04:55 AM IST
धुलेंडी और रंगपंचमी पर्व हर्षोल्लास से मनाएं। गुलाल एवं प्राकृतिक रंगों से सूखी होली खेलकर पानी बचाएं। गुरुवार को हुई शांति समिति की बैठक में यह अपील एसडीएम एवं नगर पालिका अध्यक्ष ने की।

एसडीएम कार्यालय में गुरुवार सुबह 11 बजे होली, धुलेंडी, रंगपंचमी को लेकर बैठक हुई। 15 मिनट चली बैठक में एसडीएम ने सबसे पहले पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, नगर पालिका आदि से त्योहारों पर की जाने वाली व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। इसके बाद समिति सदस्यों से सुझाव लिए गए। सदस्यों ने कहा- तेज बाइक चलाने और हुड़दंग करने वालों पर कार्रवाई हो।

एसडीएम जयतिसिंह ने कहा धार्मिक स्थलों पर या किसी व्यक्ति पर जबरन रंग ना डालें। शांति से साफ सुथरी होली मनाएं। नपाध्यक्ष बसंतीबाई यादव ने भी सूखी होली खेलकर पानी बचाने की अपील की। समिति सदस्य सुनील अग्रवाल ने कहा कि होली के बाद बच्चे व युवा नदी व तालाबों पर नहाने जाते हैं। पूर्व में डूबने की घटनाएं हो चुकी है। इसे देखते हुए सुरक्षा की व्यवस्था की जाए। वहीं राजेश गर्ग ने होली के त्योहार पर शराब दुकानें होली के दिन से ही बंद रखने की मांग की। इस दौरान विधायक प्रतिनिधि विकास आर्य, एसडीओपी, तहसीलदार, गणेश राठौड़ सहित अन्य मौजूद रहे।

शांति समिति की बैठक में सदस्यों ने सुझाव दिए और क्षेत्र की समस्याएं बताई।

60 पुलिसकर्मी रहेंगे तैनात, शाम 4 बजे होगा दूसरी बार जलप्रदाय

शहर थाना प्रभारी जगदीशचंद्र पाटीदार ने बताया कि धुलेंडी और रंगपंचमी पर 60 जवान तैनात रहेंगे। हुड़दंग करने वाले, तेज गति व तीन सवारी बैठाने वाले बाइक सवारों पर भी कार्रवाई की जाएगी। उधर नपा सीएमओ ने बताया कि धुलेंडी व रंगपंचमी पर शाम 4 बजे दूसरी बार जलप्रदाय किया जाएगा।

...इधर, आंगनवाड़ी केंद्र क्रमांक 2 के बच्चों को बांटी मिठाई

शहर के नंद कॉलोनी स्थित आंगनवाड़ी केंद्र क्रमांक 2 पर गुरुवार को बच्चों ने एक-दूसरे को रंग लगाया। अभिभावकों ने भी सूखे रंगों से होली खेली। इस दौरान बच्चों को मिठाई खिलाई गई। कार्यकर्ता कविता पाटिल, सहायिका डॉली चावड़ा, लीलाबाई, उषाबाई, वैशाली पाटिल, प्रियंका, रूपाली आदि मौजूद रहे।

हटाए जाएं अनुपयोगी खंभे

सांसद प्रतिनिधि निलेश अग्रवाल ने कहा शहर में बिजली और टेलीफोन के अनुपयोगी खंभे लगे हैं। इससे सुंदरता सहित यातायात प्रभावित होता है। इन खंभों को हटवाया जाए। सिविल अस्पताल में एलर्जी की दवाएं नहीं मिलती। इस पर ध्यान दें। समिति सदस्य मेधा एकड़ी एवं कृष्णा पालीवाल ने भी समस्याएं रखी।

पूजन कर जलती होली की परिक्रमा की

शहर में 13 मुख्य स्थानों सहित कई कॉलोनियों में हुआ होलिका दहन

मोतीबाग चौराहा के पास शाम 7.30 बजे स्थानीय लोगों ने हाली का दहन किया। इससे पहले महिलाओं ने पूजन किया।

भास्कर संवाददाता | सेंधवा

शहर व अंचल में गुरुवार को होलिका दहन किया गया। महिला-पुरुषों ने होली की परिक्रमा की। साथ ही होली में उंबी भूनकर और नारियल डालकर प्रसाद के रूप में खाया।

आज धुलेंडी पर शहर गुलाल से सराबोर होगा। फाल्गुन शुक्ल पूर्णिमा पर गुरुवार को महिलाएं घर के नजदीक की होली की पूजा करने गई। विधि-विधान से पूजा कर नैवेद्य अर्पित किया। मोतीबाग चौराहा के पास शाम 7.30 बजे होली जलाई गई। शहर की सबसे प्राचीन होली रामकटोरा में जली। यहां बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। मोतीझिरा चौक एवं अटल चौराहा पर होली का शृंगार किया गया। किला गेट चौराहा सहित कॉलोनियों और गलियों में होलिका दहन किया गया। लोगों ने जलती होली की परिक्रमा भी की। विकासखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में भी गुरुवार को होलिका दहन हुआ। नगर पालिका ने होलिका दहन स्थलों पर प्रकाश व्यवस्था की थी। पुलिस बल भी तैनात रहा।

Click to listen..