--Advertisement--

भास्कर संवाददाता |पिपरिया

भास्कर संवाददाता |पिपरिया सांडिया और सिवनी के नर्मदा घाटों पर नदी की धार पतली हो गई है। अधिकांश हिस्सा सूखा पड़ा...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:00 AM IST
भास्कर संवाददाता |पिपरिया

सांडिया और सिवनी के नर्मदा घाटों पर नदी की धार पतली हो गई है। अधिकांश हिस्सा सूखा पड़ा है। जबकि एक तरफ ही जल बचा है। अभी तो गर्मी ने दस्तक दी है। अभी से पानी को लेकर किल्लत है। इतनी पतली धार नर्मदा में इसके पहले कभी नहीं रही है। नर्मदा नदी में 1 मीटर 96 सेमी आसपास ही जल है, जबकि पिछले साल 2 मीटर 43 सेमी जल था। नर्मदा के सिवनी घाट पर धार बेहद पतली है। पूरी नदी सूख गई है। सहायक नदियों में पानी ना होने, डेम बनने और भू जल स्तर गिरने से ऐसे हालात बने हैं। नर्मदा की धार सूखने से 25 करोड़ की नर्मदा जल योजना पर भी संकट गहरा गया है। यहां सिवनी घाट पर बने इंटेकवेल पर 250 हॉर्स पॉवर मोटर लगी है जो तेजी से पानी खींचती है। 18 किमी पाइप डालकर पानी पिपरिया लाया गया है। मोहता प्लॉट में फिल्टर प्लांट बनाया गया है। हालांकि अभी योजना शुरू नहीं हुई है। कुछ तकनीकी काम शेष है। एक माह पहले प्रायोगिक तौर पर इसे शुरू किया गया था। इसके बाद नर्मदा में ही पानी की कमी हो गई। नर्मदा का जलस्तर देखकर ग्रामीण भी चिंता में हैं। ग्रामीणों के मुताबिक इस बार पानी बहुत कम हो रहा है। एेसे में यदि नर्मदा से पानी खींचा जाएगा तो नर्मदा में पानी नहीं बचेगा। पानी के वेस्टेज को लेकर भी ग्रामीण चिंता व्यक्त कर रहे हैं। सांडिया के सामने वाले बरेली जिले के हिस्से में नर्मदा किनारे से रेत का उठाव भी हो रहा है।