Hindi News »Madhya Pradesh »Pipariya» नरवाई की आग पर काबू पाने के लिए फायर ब्रिगेड की कमी, पचमढ़ी से बुलाई

नरवाई की आग पर काबू पाने के लिए फायर ब्रिगेड की कमी, पचमढ़ी से बुलाई

गर्मी शुरू होते ही रोज दो-तीन स्थानों से खेतों में आग लगने की सूचनाएं थाना और नपा परिषद को मिल रहीं हैं। बुधवार से...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 05:35 AM IST

नरवाई की आग पर काबू पाने के लिए फायर ब्रिगेड की कमी, पचमढ़ी से बुलाई
गर्मी शुरू होते ही रोज दो-तीन स्थानों से खेतों में आग लगने की सूचनाएं थाना और नपा परिषद को मिल रहीं हैं। बुधवार से शुक्रवार के बीच लगातार खेतों में आग की घटनाएं हुई हैं। आग को नियंत्रित करने के लिए नपा परिषद के पास फायर ब्रिगेड की कमी है। परिषद की 3000 हजार लीटर क्षमता वाली एक फायरब्रिगेड का सुधार कार्य चल रहा है। ऐसे में आग पर काबू पाने के लिए एक ही फायब्रिगेड उपलब्ध है। हालांकि परिषद करीब 32 लाख रुपए की लागत से 5000 लीटर क्षमता की एक नई फायरब्रिगेड खरीदने जा रही है। इसका चैसिस बनना शुरू हो गया है। वहीं बिगड़ी हुई फायर ब्रिगेड भी हफ्ते भर में सुधरने का दावा है। ऐसे में नपा ने पचमढ़ी की फायर ब्रिगेड पिपरिया बुला ली है। एसडीएम मदनसिंह ने बताया पचमढ़ी की फायर ब्रिगेड जब तक खेतों में फसलें खड़ी हैं तब तक पिपरिया रहेगी। इसके बाद उसे पचमढ़ी भेज दिया जाएगा। एक माह के भीतर परिषद के पास स्वयं के 3 फायरब्रिगेड व्हीकल हो जाएंगे।

आगामी दिनों में गेहूं कटने के बाद किसान नरवाई जलाएंगे। हालांकि एसडीएम मदनसिंह ने नरवाई में आग लगाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। भूसा मशीनों और हार्वेस्टर पर अग्निशमन यंत्र रखना जरूरी कर दिया है। फिर भी आदेशों की अवहेलना किए जाने से आग लगने की घटनाएं होती हैं। ग्रामीणों के मुताबिक कई स्थानों पर नीचे झूल रहे बिजली के तारे में शॉर्ट सर्किट से भी आग लग जाती है। ब्लॉक में करीब 26 हजार हेक्टेयर में गेहूं की फसल है। जो अब कटना शुरू हुई है। 2 अप्रैल से गेहूं समर्थन मूल्य खरीदी केंद्रों पर बिकने पहुंचेगा। अवकाश के चलते भी खरीदी बंद है। किसान गेहूं कटाई और केंद्रों पर ले जाने की तैयारी में लगे हैं।

पिपरिया। खेत में नरवाई में लगी आग को बुझाने में लगे फायर ब्रिगेड।

नहीं थम रही नरवाई की आग, माखननगर में तीन

गांव के किसानों के खेत में लगी आग

माखननगर| क्षेत्र में कटने के लिए हजारों एकड़ फसल खड़ी हुई है। प्रतिदिन आग के तांडव से किसानों को चिंता सता रही। लगातार चौथे दिन भी आग का कहर देखने को मिला। खिड़िया,मालनवाड़ा और रैपुरा के बीच रविवार को जितेन्द्र मीना के खेत की नरवाई में आग लग गई। आग इतनी तेजी से बढ़ी कि तीनों गांव के किसान घबरा गए और दमकल की सहायता से बामुश्किल आग पर काबू कर और आस-पास की खड़ी फसल बचा ली। घटना सुबह 11 की है। विकासखंड क्षेत्र में अब तक नसीराबाद, बीकोर, बहारपुर, शुक्करवाड़ा फार्म, बज्जरवाड़ा, कीरपुरा आदि ग्रामों में आग लग चुकी हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pipariya

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×