• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Raisen
  • Raisen - गढ़ी वाले बाबा को रायसेन लाने 47 किमी पैदल चले श्रद्धालु
--Advertisement--

गढ़ी वाले बाबा को रायसेन लाने 47 किमी पैदल चले श्रद्धालु

मोहर्रम पर्व पर बाबा को आमंत्रित करने के लिए रायसेन का शर्मा परिवार दस साल से पैदल गढ़ी जा रहा है। इसी आस्था और...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 04:50 AM IST
मोहर्रम पर्व पर बाबा को आमंत्रित करने के लिए रायसेन का शर्मा परिवार दस साल से पैदल गढ़ी जा रहा है। इसी आस्था और पुरानी परंपरा को निभाने के लिए परिवार के सदस्य मंगलवार सुबह पैदल गढ़ी के लिए रवाना हुए। करीब 47 किमी की पदयात्रा करते हुए यह परिवार शाम को 15 घंटे का सफर तय कर गढ़ी पहुंचे। यहां पर गढ़ी के खाई वाले सरकार हजरत प्रीतम शाह बली रहमत उल्लाह वाले बाबा की मजार पर चादर चढ़ाई। और पूजा अर्चना करने के बाद उन्हें रायसेन चलने का आमंत्रण दिया।

गढ़ी में रहने वाला यह शर्मा परिवार 41 साल पहले व्यवसायिक गतिविधियों के चलते रायसेन शहर में आकर बस गया। पहले मोहर्रम पर्व पर परिवार के सदस्य वहां पर पहुंच कर बाबा की पूजा करके लौट आते थे। लेकिन 10 साल पहले परिवार के सदस्यों ने निर्णय किया कि बाबा को लेने पैदल गढ़ी जाएंगे। पहले परिवार के बुजुर्ग और युवा वर्ग के लोग ही पैदल गढ़ी जाते थे, लेकिन अब इस पदयात्रा में बच्चे भी परिवार के सदस्यों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर जाने लगे है। इस पदयात्रा में ओमप्रकाश, साधना, अरविंद श्वेता, सूर्य प्रकाश, सुहानी, संतोष, सरिता, स्वप्निल, हर्ष, हिमांशु, सोना, शिवानी, हेमराज, भूरी, मनोज, रामू, शब्बू लाइट सहित अन्य सदस्य शामिल हैं।

15 घंटे में पहुंचे गढ़ी, बाबा को चढ़ाई चादर

जत्थे में शामिल अरविंद शर्मा ने बताया कि मोहर्रम पर्व पर गढ़ी वाले बाबा को रायसेन लाने के लिए उनका परिवार पिछले 10 साल से हर साल गढ़ी तक पैदल यात्रा कर रहे हैं। मोहर्रम के दौरान बाबा साहब रायसेन में रहकर लोगों को आशीर्वाद देते हैं। पहले उनका परिवार गढ़ी में रहता था, इस कारण पूरे परिवार की बाबा के प्रति आस्था है। इस आस्था और परंपरा को उनका पूरा परिवार आज भी निभा रहा है।

रायसेन से गढ़ी तक 47 किमी का सफर तय करने के लिए परिवार के सदस्य सुबह 7 बजे रायसेन के पटना रोड से यात्रा शुरू की। इस यात्रा को पूरा करने में उनके परिवार को करीब 15 घंटे से अधिक का समय लगा। गढ़ी पहुंचने के बाद शर्मा परिवार और उनके मित्रों ने बाबा की मजार पर चादर चढ़ाई। इसके बाद पूजा अर्चना करने के बाद इस परिवार ने मोहर्रम पर्व के लिए बाबा को रायसेन आने के लिए अामंत्रित किया।

मोहर्रम पर्व पर गढ़ी वाले बाबा को आमंत्रित करने शर्मा परिवार दस साल से जा रहे हैं, 47 किमी का सफर 15 घंटे में किया तय

गढ़ी वाले बाबा को लेने के लिए पैदल रवाना हुआ शर्मा परिवार।