Hindi News »Madhya Pradesh »Raisen» विवि में आध्यात्मिक, नवग्रह और राशि उद्यान विकसित

विवि में आध्यात्मिक, नवग्रह और राशि उद्यान विकसित

सांची बौद्ध.भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय के बारला स्थित अकादमिक परिसर में इन दिनों फूलों की बहार है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 03:05 AM IST

सांची बौद्ध.भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय के बारला स्थित अकादमिक परिसर में इन दिनों फूलों की बहार है। विश्वविद्यालय परिसर के चारों तरफ फूलों की तकरीबन 60 से अधिक किस्में पल्लवित हो रही हैं। हर तरफ रंग-बिरंगे फूल ही फूल खिले हैं जो फिजा में खुशबू बिखेर रहे हैं। बड़ी संख्या में लोग इन फूलों को देखने के लिए पहुंच रहे हैं। इन फूलों के अलावा विश्वविद्यालय में औषधीय गार्डन भी विकसित किया गया है।

सांची विश्वविद्यालय के सहायक निदेशक (उद्यानिकी) कृपाल सिंह वर्मा का कहना है कि विश्वविद्यालय परिसर में ही एक आध्यात्मिक उद्यान, नवग्रह उद्यान एवं राशि उद्यान भी विकसित किए गए हैं जहां पर ऐसे पेड़ों को लगाया गया है जिनका अलग-अलग धर्म और दर्शन में जिक्र किया गया है। पीपल बरगद और समी के पेड़ों की किस्मों के साथ-साथ पाम के वृक्ष क्रिसमस ट्री, खजूर के वृक्ष इत्यादि पेड़ों की प्रजातियों को सांची विश्वविद्यालय में ही ग्राफ्ट कर तैयार किया गया है।

फूलों की बहार

विश्वविद्यालय परिसर का बाग गुलज़ार, औषधीय और खुशबूदार पौधों के भी उद्यान, बाग को देखने पहुंच रहे लोग

इन किस्मों के फूलों से महंगा उद्यान

नर्सरी में फूलों की 60 विभिन्न वैरायटियों में लाइनेरिया, फ्लॉक्स, केलेंड्यूला, स्वीट सुल्तान, स्वीट विलियम, पॉपी, ऑर्क टोटिस, कैलिफोरनिया पॉपी, एनट्रेनियम, डहेलिया, सूरजमुखी और हैरीक्राइसम आदि प्रमुख फूलों को यहां पर लगाया गया है। इसके अलावा सांची विश्वविद्यालय की नर्सरी में जलीय पौधों को भी लगाया गया है। जिनमें सिंघाड़ा, कमल और अमेज़न लिली प्रमुख हैं।

विलुप्त हो रही प्रजातियों के पौधों का हो रहा संरक्षण

सांची विश्वविद्यालय अपनी नर्सरी में कई विलुप्त हो रहे पेड़-पौधों की प्रजातियों के संरक्षण और संवर्धन के लिए प्रयास कर रहा है। विश्वविद्यालय की नर्सरी में चिरौंजी सफेद और पीले पलाश की प्रजातियों को लगाया गया है। इसके अलावा बड़ी संख्या में अलंकृत पौधे जैसे मोरपंखी, एकजोरा, बॉटल ब्रश, कचनार, चांदनी जैसे पौधे लगाए गए हैं। इन पौधों को घरों की सजावट के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Madhya Pradesh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: विवि में आध्यात्मिक, नवग्रह और राशि उद्यान विकसित
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Raisen

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×