• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Raisen
  • बैंचों की धूल साफ की, फिर परीक्षा देने के लिए बैठे छात्र
--Advertisement--

बैंचों की धूल साफ की, फिर परीक्षा देने के लिए बैठे छात्र

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 03:50 AM IST

Raisen News - ग्यारहवी की परीक्षा गुरुवार से शुरू हो गई। पहला पेपर होने से परीक्षार्थी समय से पहले परीक्षा केंद्रों पर पहुंच...

बैंचों की धूल साफ की, फिर परीक्षा देने के लिए बैठे छात्र
ग्यारहवी की परीक्षा गुरुवार से शुरू हो गई। पहला पेपर होने से परीक्षार्थी समय से पहले परीक्षा केंद्रों पर पहुंच गए। वहां उन्होंने रोल नंबर के आधार पर अपने कक्षों का पता लगाया। उसके बाद जैसे ही वे कक्ष में पहुंचे तो बेंचों और टेबलों पर धूल की मोटी परत जमी हुईं थी। धूल से कपड़े गंदे होने की चिंता में वे बैठ भी नहीं पा रहे थे। पहले उन्होंने बेंच साफ की उसकी बाद ही परीक्षा देने के लिए बैठ पाए। इस तरह के नजारे शहर के उत्कृष्ट विद्यालय सहित दूसरे परीक्षा केंद्रों पर भी देखे गए।

परीक्षा

ग्यारहवीं कक्षा का पहले दिन हुआ हिंदी का पेपर, छुट्टी के दिन होने वाली परीक्षाओं का टाइम टेबल बदला

कमरों में छाया रहा अंधेरा

धूल के अलावा भी परीक्षाओं में काफी समस्याएं देखने को मिलीं। परीक्षा कक्षों में बिजली की व्यवस्था न होने से उन्हें अंधेरे में बैठकर परीक्षा देना पड़ी। इन कक्षों में खिड़कियों के पास तो रोशनी हाेती थी लेकिन इन से थोड़ी सी दूरी पर कमरों में अंधेरा छाया रहा।

ग्यारहवीं में दर्ज हैं 6 हजार 902 परीक्षार्थी

वार्षिक परीक्षाएं गुरुवार से शुरू हो गईं। पहले दिन ग्यारहवीं का हिंदी विषय का पेपर कराया गया। जानकारी के मुताबिक ग्यारहवीं कक्षा में जिले भर से 6 हजार 902 परीक्षार्थी दर्ज हैं। पहले दिन एक भी नकल प्रकरण नहीं बना है

9वीं,11वीं का टाइम टेबल बदला

शिक्षण सत्र 2017-18 की कक्षा 9वीं और 11वीं की स्थानीय वार्षिक परीक्षाओं की समय- सारिणी में संशोधन किया गया है। लोक शिक्षण संचालनालय ने 30 जनवरी को संशोधित परीक्षा कार्यक्रम जारी किया है। जिला शिक्षा अधिकारी सहित सभी स्कूल प्राचार्यों को पत्र जारी कर परीक्षा संशोधित समय-सारिणी के अनुसार ही कराने के निर्देश दिए गए हैं। फरवरी में स्थानीय परीक्षाएं संपन्न कराने संचालनालय ने पूर्व में जो समय-सारिणी जारी की थी, उसमें कुछ तारीखों में अवकाश हैं। 4, 5 फरवरी और 14 फरवरी की तिथियों को ध्यान में रखते हुए जिला शिक्षा अधिकारी आरपीसेन ने बताया कि संशोधित कार्यक्रम सभी प्राचार्यों को भेज दिया गया है। नए टाईम टेबल के मुताबिक ही परीक्षाएं ली जा रही हैं।

X
बैंचों की धूल साफ की, फिर परीक्षा देने के लिए बैठे छात्र
Astrology

Recommended

Click to listen..