22 दिन के बाद जीआरपी ने रायगढ़ स्टेशन पर मिला बच्चा

Raisen News - मंडीदीप | बच्चों के गलती करने पर अभिभावकों द्वारा उन्हें डांटना महंगा पड़ सकता है। कुछ ऐसा ही मामला उद्योग नगरी से...

Dec 04, 2019, 10:05 AM IST
मंडीदीप | बच्चों के गलती करने पर अभिभावकों द्वारा उन्हें डांटना महंगा पड़ सकता है। कुछ ऐसा ही मामला उद्योग नगरी से सामने आया है। जहां राहुल नगर निवासी सत्यनारायण पटेल को अपने 11 वर्षीय बेटे सचिन को गुटखा खाने पर डांटना महंगा पड़ गया।

सचिन गुस्से में घर छोड़कर भाग गया, जो 22 दिन बाद पुलिस की मदद से घर पहुंचा है। सतलापुर पुलिस थाना प्रभारी गिरीश दुबे ने बताया कि बीते माह 11 नवंबर को राहुल नगर निवासी सत्यनारायण पटेल ने अपने 11 वर्षीय बेटे सचिन पटेल की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी तबसे पुलिस मामले की जांच में जुटी थी। पुलिस को कुछ दिन पहले छत्तीसगढ़ जीआरपी पुलिस से सूचना मिली थी कि उन्हें एक बच्चा मिला है, जिसमें अपना नाम पता मंडीदीप का होना बताया है। पुलिस ने बाल संरक्षण समिति के माध्यम से मंगलवार को माता पिता को सौंपा। टीआई दुबे ने बताया कि पिता से डांट खाने के बाद गुस्से में सचिन औबेदुल्लागंज पहुंचा। वहां से ट्रेन में बैठकर वह छत्तीसगढ़ के रायगढ़ पहुंच गया। यहां स्कूल यूनिफॉर्म में होने के कारण जीआरपी पुलिस ने उसे पकड़ कर वहां की बाल संरक्षण समिति को सौंप दिया। इसके बाद रायसेन कंट्रोल रूम को सूचना दी। इसी के आधार पर पुलिस ने सचिन का पता लगाया और उसके अभिभावकों तक पहुंचाया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना