पाप आपके सारे धर्म और पुण्य को नष्ट कर देता : शास्त्री

Raisen News - संसार में मानव का जन्म सबसे सुन्दर है, इसलिए इस जन्म में हर व्यक्ति को अच्छे कार्य व भगवान की भक्ति में लगाना...

Feb 22, 2020, 06:40 AM IST
Begumganj News - mp news sin destroys all your religion and virtue shastri

संसार में मानव का जन्म सबसे सुन्दर है, इसलिए इस जन्म में हर व्यक्ति को अच्छे कार्य व भगवान की भक्ति में लगाना चाहिए। क्योंकि मानव जीवन अच्छे कर्मों के लिए ही मिलता है और इस जीवन मे आप अच्छे, सत्कर्म करेंगे, तभी परमात्मा का दर्शन हो सकता है। आपको अपने जीवन में कभी भी कोई पाप नहीं करना चाहिए। क्योंकि एक पाप आपके सारी भक्ति और पुण्य छीन लेता है। जिस प्रकार एक गंदी मछली सारा तालाब गंदा कर देती है, उसी प्रकार एक पाप आपके सारे धर्म और पुण्य को नष्ट कर देता है। सो हमेशा दूसरों की मदद, सहयोग और सत्य कार्य और अपने जीवन को भगवान, परमात्मा के ध्यान में लगाना चाहिए। ताकि आपका जीवन शुख एवं शांति से गुजर सके और बार-बार के इस जन्म-मृत्यु से मुक्त होकर भगवान, परमात्मा के चरणों में जगह मिल जाए। उक्त उद्गार पंडित कमलेश शास्त्री ने श्रीमद्भागवत महापुराण एवं रूद्राभिषेक में नगर के गोकुल दास तली वाले राम रसिया मुकरबा में वाचन करते हुए छठवें दिन कही।

श्री शास्त्री ने भगवान श्री कृष्ण और रूकमणि क विवाह का विवरण किया। भगवान श्री कृष्ण गोकुल से मथुरा के लिए जाते है तो उनकी विदाई होती है। यशोदा मां उन्हें राेकती है और रोती रहती है श्रीकृष्ण की विदाई के समय सम्पूर्ण गोकुल में व्याकुलता छा जाती है गाय, बछड़े, गोपियां सहित सभी गोकुलवासी रो रहे है जिससे पूरा वातावरण में उदासी छा जाती है। तत्पश्चात श्री कृष्ण, बलराम मथुरा पहुंचकर कंस का वध करते है। माता- पिता को छुड़ाकर पिता का राज्याभिषेक करते। श्रीमद्भागवत कथा के छठवें दिन कथा वाचक आनन्द कृष्ण शास्त्री ने श्री कृष्ण-रुक्मणि का विवाह पर कथा सुनाई।

भागवत कथा में कृष्ण और रुकमणि विवाह की कथा सुनाते कथा वाचक।

X
Begumganj News - mp news sin destroys all your religion and virtue shastri

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना