समाज... जैन चैत्यालय एवं जिनालय में उत्साह से मनाया पर्युषण पर्व, समाज के लोगों ने एक-दूसरे से मांगी क्षमा

Raisen News - देवरी| श्री तारण तरण दिगंबर जैन चैत्यालय में सुबह 8 बजे से भक्तिमय मंदिर विधि एवं 12 बजे श्री तारण त्रिवेणी का तिलक...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:20 AM IST
Deveri News - mp news society paryushan festival celebrated enthusiastically in jain chaitya and jinalaya people of society asked each other forgiveness
देवरी| श्री तारण तरण दिगंबर जैन चैत्यालय में सुबह 8 बजे से भक्तिमय मंदिर विधि एवं 12 बजे श्री तारण त्रिवेणी का तिलक महोत्सव किया गया। जिसके बाद मां जिनवाणी की महा आरती और केशरिया ध्वज का ध्वजारोहण किया गया। बालिका मंडल, महिला मंडल द्वारा झंडा वंदन का गायन किया गया। दशलक्षण धर्म का दसवां दिन पर उत्तम ब्रह्मचर्य धर्म पर प्रकाश डाला गया। पं. ऋषभ जैन ने बताया कि उत्तम-ब्रह्मचर्य-धर्म का दिन है। अध्यात्म-मार्ग में ब्रह्मचर्य को सर्वश्रेष्ठ माना गया है, क्योंकि सही मायने में वही मोक्ष का कारण है। विषयों में अनुराग छोड़कर अपने आत्म-स्वरूप में रमण करना या लीन रहना ही सच्चा-ब्रह्मचर्य है। जो वृद्धा, बालिका, यौवना स्त्री को देखकर उनमें बड़ी को मां, छोटी को बेटी और हमउम्र को बहन समान मानकर स्त्री-संबंधी अनुराग का त्याग करते हैं, वे तीनों लोकों में पूज्य ब्रह्मचर्य-महाव्रत के धनी होते हैं। वहीं श्री नेमिनाथ जिनालय में प्रात: 7 बजे से भक्तिमय समस्त समाज जनों की उपस्थिति में भगवान नेमिनाथ का अभिषेक एवं दोपहर 3:00 बजे से जलविहार का भव्य आयोजन किया गया। शाम को 7 बजे से भक्तिमय आरती का आयोजन किया जा रहा है जिसमे डॉ. रतनचंद जैन नेमीचंद जैन, वीरेंद्र जैन, अनुज जैन, दीपक जैन, प्रिंस जैन, पंडित ऋषभ कुमार जैन, दीपक जैन, सुनील जैन, सौरभ जैन, राजेंद्र जैन, राहुल जैन, संजय जैन, अतुल जैन सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे। इस दौरान सभी समाजजनों ने एक दूसरे से क्षमा मांगकर पुरानी गलतियों को भुलाया।

X
Deveri News - mp news society paryushan festival celebrated enthusiastically in jain chaitya and jinalaya people of society asked each other forgiveness
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना