--Advertisement--

पढ़ाई में कमजोर छात्रों को योग्यता अनुसार देंगे प्रशिक्षण

Raisen News - पढ़ाई में कमजोर व एवरेज से कम अंक लाने वाले 10वीं से 12वीं तक विद्यार्थियों को अब स्कूलों में रोजगार से जोड़ने के प्रयास...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:26 AM IST
Raisen News - training will be given to the weaker students in accordance with merit
पढ़ाई में कमजोर व एवरेज से कम अंक लाने वाले 10वीं से 12वीं तक विद्यार्थियों को अब स्कूलों में रोजगार से जोड़ने के प्रयास शुरू किए जाएंगे। इसके लिए उन्हें योग्यता के अनुसार जानकारी दी जाएगी।

पारिवारिक स्थिति व पढ़ाई में मन नहीं लगने के कारण 10वीं से 12वीं के बीच 45 प्रतिशत या इससे कम अंक लाने वाले विद्यार्थियों को अब विद्यालय में ही रोजगार संबंधित प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रयोग कम प्रतिशत लाने वाले विद्यार्थियों द्वारा बीच में ही पढ़ाई छोड़ने की स्थिति को देखते हुए किया जा रहा है। सरकार का मानना है कि जो विद्यार्थी दसवीं में 45 प्रतिशत या इससे कम लाते हैं वे भविष्य में स्नातक की पढ़ाई तक नहीं कर पाते। यदि वे 12वीं या स्नातक कर भी लेते है तो कम प्रतिशत होने से वे किसी भी काॅम्पीटिशन एग्जाम में भी शामिल नहीं हो पाते। ऐसे हालात को देखते हुए 10वीं से लेकर 12वीं तक कम प्रतिशत से उत्तीर्ण-अनुत्तीर्ण विद्यार्थियों को विभिन्न रोजगारमूलक प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसमें उनकी रुचि के अनुसार रोजगार की जानकारी दी जाएगी ताकि वे समय रहते अपने पैरों पर खड़े हो सकें।

ऐसी रहेगी काउंसिलर्स की व्यवस्था: विद्यार्थियों की कैरियर काउंसिलिंग के लिए तकनीकी शिक्षा कौशल विकास एवं रोजगार विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग व उच्च शिक्षा विभाग एवं जनजाति विभाग के पूर्व में काउंसिलिंग कर चुके काउंसिलर्स को नियुक्त किया जाएगा। आवश्यकता होने पर नोडल अधिकारियों द्वारा अतिरिक्त काउंसलरों की नियुक्ति की जाएगी।

जिला स्तर पर बनेगी समिति: योजना के क्रियान्वयन के लिए जिला स्तर पर समिति बनाई जाएगी। इसमें अध्यक्ष कलेक्टर, जिला पंचायत सीईओ, लीड कॉलेज प्राचार्य, जिला शिक्षा अधिकारी, जिला संयोजक जनजाति विभाग, आईटीआई प्राचार्य, जिला रोजगार अधिकारी सदस्य होंगे। इस समिति द्वारा काउंसलरों का मनोनयन किया जाएगा, जो कमजोर विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करेंगे।

प्रशिक्षण से यह होगा लाभ: जिला शिक्षा अधिकारी आरपी सेन ने बताया कि कैरियर काउंसिलिंग पहल योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले प्रशिक्षण से सबसे ज्यादा वे विद्यार्थी लाभांवित होंगे जो कि कम प्रतिशत या फिर पढ़ाई छोड़ चुके हैं। शिविर के दौरान उन्हें विभिन्न उपलब्ध रोजगारों व योजनाओं की जानकारी दी जाएगी ताकि वे रोजगार से जुड़कर खुद के पैरों पर खड़े हो सकें।

X
Raisen News - training will be given to the weaker students in accordance with merit
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..