• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Rajgarh Dhar
  • प्राकृतिक आपदा आई तो मिलेगा दोगुना मुआवजा, लहसुन सस्ती बिकी तो भी भावांतर का फायदा
--Advertisement--

प्राकृतिक आपदा आई तो मिलेगा दोगुना मुआवजा, लहसुन सस्ती बिकी तो भी भावांतर का फायदा

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 04:25 AM IST

Rajgarh Dhar News - किसानों की उपज विदेश तक पहुंचाने के लिए बनाएंगे समिति, सभा में आए किसान की मौत पर 5 लाख की सहायता भास्कर न्यूज |...

प्राकृतिक आपदा आई तो मिलेगा दोगुना मुआवजा, लहसुन सस्ती बिकी तो भी भावांतर का फायदा
किसानों की उपज विदेश तक पहुंचाने के लिए बनाएंगे समिति, सभा में आए किसान की मौत पर 5 लाख की सहायता

भास्कर न्यूज | शाजापुर

किसान समृद्धि योजना का शुभारंभ करने सोमवार को शाजापुर आए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान चुनावी मूड में दिखे। 5 घोषणाओं से उन्होंने किसानों को अपनी ओर खींचा। उन्होंने प्राकृतिक आपदा में राहत के साथ ही लहसुन सस्ती बिकने पर भावांतर की राशि पूरी दिलाने के साथ ही चना, सरसों और मसूर का समर्थन मूल्य तय कर 100 रुपए प्रति क्विंटल बोनस देने का भी कहा। इसके अलावा किसानों की उपज विदेश तक अच्छी कीमत में पहुंचाने के लिए जल्द ही एक समिति बनाने की घोषणा भी की है।

सिंचाई का रकबा बढ़ाएंगे

मुख्यमंत्री दोपहर 12.50 बजे शाजापुर पहुंचे और 2 बजे रवाना हो गए। करीब 58 मिनट तक उन्होंने सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे। सिंचाई का रकबा 7.50 लाख हेक्टेयर से बढ़ाकर 40 लाख हेक्टेयर कर दिया है। अब इसे 2.50 लाख हेक्टेयर करना है। इसके लिए शुरुआत कर दी है। नर्मदा-कालीसिंध लिंक परियोजना से देवास, शाजापुर, उज्जैन, राजगढ़ सहित आगर-मालवा में पानी ही पानी हो जाएगा।

सम्मेलन को संबोधित करते शिवराजसिंह चौहान।

घोषणाएं एक नजर में

1. मुआवजा

अब : प्राकृतिक आपदा के कारण फसलें खराब होने पर 30 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर राहत राशि दी जाएगी, ताकि किसानों को नुकसान के मुताबिक मुआवजा मिल सके।

पहले : 15 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मिलता था मुआवजा।

2. भावांतर

अब : लहसुन के लिए तय किया है कि 1600 रुपए प्रति क्विंटल से कम कीमत पर बिकने पर भी भावांतर राशि के रूप में किसानों काे 800 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से राशि मिलेगी।

पहले : 1600 रुपए से कम भाव मिलने पर लहसुन की क्वालिटी खराब मानी जाती थी, इसलिए भावांतर में शामिल नहीं होती थी।

3. समर्थन मूल्य

अब : गेहूं कोई समर्थन मूल्य 1735 रुपए से भी ज्यादा कीमत पर व्यापारी को बेचता है तो भी 265 रुपए प्रति क्विंटल बोनस मिलेगा।

पहले : समर्थन मूल्य 1625

4. बोनस : घोषणा इसी साल

अब : चना का समर्थन मूल्य 4400, मसूर 4250 और सरसों 4 हजार रुपए कीमत पर सरकार ही खरीदेगी। 100 रुपए अलग से बोनस देंगे।

5. इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट

किसानों की उपज को विदेश तक पहुंचाएंगे, ताकि उन्हें और ज्यादा कीमत मिल सके। इसके लिए इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट की तैयारी है। जल्द ही विशेषज्ञों की बैठक बुलाकर एक समिति बनाई जाएगी।

कार्यक्रम में मौजूद किसानों की भीड़।

सभा में ग्रामीण की अटैक से मौत

दोपहर करीब 12.30 बजे टेंट में बैठे बद्रीलाल गुर्जर (70) निवासी टांडाबोर्डी की तबीयत बिगड़ी और कुर्सी से गिर गए। किसान को जिला अस्पताल भेजा गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बाद में सीएम पहुंचे तो कलेक्टर ने मौत की जानकारी दी। इस पर सीएम ने दु:ख व्यक्त करते हुए परिजन की आर्थिक मदद के लिए 5 लाख रुपए देने की बात कही।

58 मिनट के भाषण में सीएम ने 12 बार कहा - क्या कांग्रेस होती तो ऐसा हो पाता- सीएम लगातार 58 मिनट तक बोलते रहे। इस दौरान उन्होंने अपनी हर योजना की तुलना कांग्रेस की सरकारों से की। उन्होंने कहा कांग्रेस के समय किसानों को प्राकृतिक आपदा पर ढाई हजार रुपए प्रति हेक्टेयर मिलता था। अब इसे 30 हजार रुपए कर रहा हूं। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होती तो क्या ऐसा हो पाता? यही प्रश्न सीएम ने अपनी अलग-अलग योजनाओं की उपलब्धि बताते हुए करीब 12 बार पूछा।

X
प्राकृतिक आपदा आई तो मिलेगा दोगुना मुआवजा, लहसुन सस्ती बिकी तो भी भावांतर का फायदा
Astrology

Recommended

Click to listen..